एटा: एटा जिले के निधौलीकलां गांव में एक दलित शख्स की बेटी की शादी में आरओ पानी सप्लाई करने से इनकार कर दिया गया. शख्स ने बारातियों और सम्बन्धियों के लिए आरओ पानी मुहैया कराने वाले प्लांट संचालक से संपर्क किया था, लेकिन संचालक ने ये कहते हुए पानी मुहैया कराने से इनकार कर दिया कि वह दलित हैं. दलितों को पानी नहीं देते. मजबूरन सादा पानी ही बारातियों को पिलाना पड़ा. मामले की शिकायत जिला प्रशासन से की गई है. जिला प्रशासन ने ऐसा करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है. Also Read - कमाल है: उप्र में अनुमति के बिना दाढ़ी रखने पर मुस्लिम पुलिसकर्मी निलंबित

मजबूरन सादा पानी पिलाना पड़ा
मामला एटा के गांव निधौलीकलां के मोहल्ला ब्राह्मणपुरी का है. यहां के रहने वाले एक दलित शख्स की बेटी की शादी थी. उन्होंने बरात और सम्बन्धियों के लिए आरओ पानी की व्यवस्था की योजना बनाई. इसके लिए उन्होंने कैम्पर उपलब्ध कराने के लिए प्लांट संचालक राकेश गुप्ता से पानी उपलब्ध कराने की बात कही, लेकिन उसने इनकार कर दिया. दलित ने दूसरे संचालक आजम खान से संपर्क किया, लेकिन उसने पानी उपलब्ध कराने से इनकार कर दिया. दलित शख्स को अपनी बेटी की शादी में मजबूरन सादा पानी ही बारातियों को पिलाना पड़ा.

एसडीएम् के पहुंचने से पहले फरार हुए प्लांट संचालक
शादी के बाद दलित ने इसे लेकर समाधान दिवस में शिकायत की, लेकिन कार्यवाही नहीं हुई. इसके बाद उन्होंने जिला अधिकारी से शिकायत की. जिलाधिकारी ने शिकायत के बाद मामले की जांच के आदेश दिए. जांच के लिए एसडीएम सदर महेंद्र सिंह प्लांट से पहुंचे, लेकिन दोनों ही संचालक प्लांट बंद कर फरार हो गए. एसडीएम सदर महेंद्र सिंह ने बताया कि मामले की जांच कर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.