बनारस: सड़कों पर जगह-जगह गंदगी. उड़ता कूड़ा. घाटों पर, सड़कों के किनारे कीचड़. ये किसी और शहर की नहीं, बल्कि उस काशी (वाराणसी) की तस्वीर है जहां से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सांसद हैं. ये वही काशी है, जिसे पीएम नरेंद्र मोदी ने कभी क्योटो की तरह खूबसूरत बनाने का वादा किया था, लेकिन चार साल से केंद्र में बीजेपी की सरकार के बाद भी कुछ ख़ास बदलाव नहीं आया है. स्वच्छ भारत अभियान का असर पीएम मोदी की काशी में ही नहीं दिखा है.

कभी पीएम ने क्योटो बनाने का दिखाया था सपना
वाराणसी उत्तर प्रदेश का एतिहासिक शहर है. काशी के धार्मिक स्थल और यहां की एतिहासिकता पूरी दुनिया में मशहूर है. 2014 में जब पीएम पद के लिए बीजेपी द्वारा प्रोजेक्ट किए गए नरेंद्र मोदी ने यहां से चुनाव लड़ा तो जनता ने उन्हें हाथों हाथ लिया. उन्होंने चुनाव के दौरान कहा कि वाराणसी में उन्हें गंगा माँ ने बुलाया है. वह वाराणसी को क्योटो की तरह खूबसूरत बना देंगे. जनता ने नरेंद्र मोदी को भारी मतों से जिताया. वह पीएम भी बन गए. लोगों की उम्मीद भी थी काशी की सूरत बदल जाएगी, लेकिन कुछ ख़ास नहीं बदला.

सड़कों पर गंदगी है. एक दिन पहले ही केंद्रीय मंत्री ने काशी को गंदगी वाला शहर बताया था. फोटो एएनआई

एक दिन पहले ही केंद्रीय मंत्री ने काशी को गंदगी वाला शहर बताया था. फोटो एएनआई

 

लोग बोले-सरकार यहां के हाल पर ध्यान नहीं दे रही
एएनआई द्वारा जारी की गई तस्वीरें काशी का हाल बनाने के लिए काफी हैं. लोगों का कहना है कि सरकार यहां के हाल पर ध्यान नहीं दे रही है. यहां चारों तरफ कचड़ा और गंदगी है. सड़कें बेहद संकरी हैं. लोगों का कहना है कि घाट जो वाराणसी का महत्वपूर्ण हिस्सा हैं, वहां गंदगी है. कीचड़ फैला हुआ है. म्युनिसिपल कारपोरेशन अपनी जिम्मेदारी नहीं उठा रहा है. लोगों ने खुद जनता को भी दोष दिया कि लोग सडकों पर ही कचड़ा फेंक देते हैं.

PM मोदी के वाराणसी को पर्यटन मंत्री ने बताया जाम और गंदगी वाला शहर, कहा- टूरिस्ट हो रहे कम

केंद्रीय मंत्री ने कहा था- वाराणसी गंदगी वाला शहर है
बता दें कि 5 मई, 2018 को वाराणसी पहुंचे बीजेपी की केंद्र सरकार के ही केंद्रीय पर्यटन मंत्री केजे अल्फोंसे ने बयान दिया. उन्होंने कहा था कि कशी गंदगी वाला शहर है. सड़कें संकरी हैं. हर तरफ गंदगी है. जगह जगह जाम है. इस कारण यहां टूरिस्ट आना कम हो रहे हैं. उनके इस बयान से काशी के विकास के दावों की पोल खुल गई.