बांदा: उत्तर प्रदेश के बांदा जिले में बबेरू कस्बे के एक ब्राह्मण परिवार ने 8 साल पहले इस्लाम धर्म स्वीकार कर लिया था. लेकिन अब पड़ोसियों को उसके धर्म परिवर्तन की जानकारी मिली तो परिवार का जीना मुश्किल हो गया है. बबेरू के उपजिलाधिकारी अरविंद कुमार श्रीवास्तव ने सोमवार को बताया कि मूलरूप से पतवन गांव के घनश्याम शुक्ला ने 2011 में स्वेच्छा से इस्लाम धर्म कबूल कर लिया, इसके बाद उसकी पत्नी कालिन्द्री ने 2013 में धर्म परिवर्तन किया. यह परिवार बबेरू कस्बे में मकान खरीद कर रह रहा है. Also Read - यूपी के गोरखपुर में नाबालिग से गैंगरेप, रिपोर्ट दर्ज नहीं करने के आरोप में 2 पुलिसकर्मी निलंबित

उन्होंने बताया, ‘घनश्याम की शिकायत पर पुलिस बल के साथ रविवार को मैंने जांच की है. धर्म परिवर्तन की जानकारी होने पर अब पड़ोसी घनश्याम का उत्पीड़न कर रहे हैं. इस परिवार की सुरक्षा के लिए बबेरू पुलिस को सतर्क कर दिया गया है.’ घनश्याम बताते हैं कि शादी के बाद उसके परिवार (माता-पिता व भाई) ने उसे घर से निकाल दिया था. वह मानसिक रूप से बीमार रहने लगा. किसी ने हरदौली ‘चापे शाह बाबा’ की मजार जाने की सलाह दी. जब मजार पहुंचा तो साक्षात चापे शाह बाबा का दीदार हुआ और उनके हुक्म पर उसने इस्लाम धर्म कुबूल कर लिया. Also Read - Shabnam Full Story: कौन है शबनम जिसे होने वाली है फांसी! प्यार को पाने के लिए प्रेमी Saleem संग मिलकर किस खौफनाक वारदात को Shabnam ने दिया था अंजाम

घनश्याम ने बताया कि धर्म परिवर्तन की सूचना किसी भी पड़ोसी तक को नहीं दी थी. 2013 में पत्नी कालिन्द्री ने भी इस्लाम स्वीकार कर लिया. अब पड़ोसियों को धर्म परिवर्तन की जानकारी हो गई है तो वे हमारा उत्पीड़न कर रहे हैं. (इनपुट-एजेंसी) Also Read - Abhyudaya Yojana : यूपी में NEET, JEE, UPSE परीक्षाओं की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए खुशखबरी, मिलेगी फ्री कोचिंग