मेरठ: उत्तर प्रदेश के मेरठ में एक स्कूल से चौंकाने वाला मामला सामने आया है. मेरठ के खरखौदा में स्थित कस्तूरबा गांधी गर्ल्स स्कूल की कक्षा 5, 6, 7 की स्टूडेंट्स को स्कूल की ही वार्डन भूत बनकर डरा रही थी. स्टूडेंट्स के मुताबिक वार्डन हॉस्टल के पास मुंह ढंककर ‘भूत’ बनकर घूमती है. अकेले में किसी से बातें करने का नाटक करती है. जैसे कोई किसी आत्मा से बातें कर रहा हो. चुपके से कमरों में जाकर लड़कियों के कपड़े उतार देती है. वह इतना डर जाती हैं कि कुछ बोल नहीं पाती. अपनी आंखें बंद किए रहती हैं. इसके साथ ही स्कूल का एक चपरासी उनका यौन शोषण भी करता है. शिकायत के बाद जिला प्रशासन द्वारा दोनों को नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया है.

भूत बनाकर डराती थी वार्डन
गर्ल्स स्कूल की हॉस्टल में वॉर्डन पूनम भारती है. साथ ही हॉस्टल में चपरासी ज्ञान प्रकाश है. हॉस्टल में रहने वाली लड़कियों ने आरोप लगाया है कि वार्डन और चपरासी दोनों ने उनका शोषण करते हैं. उनके साथ छेड़छाड़ की जाती है. कक्षा 6 में पढ़ने वाली एक स्टूडेंट ने जिला प्रशासन को पत्र लिखकर बताया कि ‘वॉर्डन रात में भूत बनकर उन्हें डराती है और उनका यौन शोषण करती है. वह मुंह ढंककर आती है और चुपके से आकर उनके कपड़े उतार देती है. वह इतनी डर जाती हैं कि आंखें बंद कर लेती हैं.’ लड़कियों के अनुसार ‘वॉर्डन उन्हें डराने के लिए भूत बनने का नाटक करती है. वह कुछ तरल पदार्थ लेकर रात में निकलती है और लड़कियों पर छिड़क देती है. इसके साथ ही सुनसान जगह में खड़ी होकर बातें करती है, जबकि वहां कोई दूसरा नहीं होता. इससे वह बेहद डर जाती हैं. इसके साथ ही देर रात तक लड़कियों के कमरे में जाकर उनसे मालिश करवाती है.’ लड़कियों के अनुसार ‘चपरासी ज्ञानप्रकाश द्वारा उनके साथ अश्लील हरकतें की गई. एक व्यक्ति चुपके से वॉर्डन के कमरे में घुसता था. उन्होंने ये देख लिया तो वार्डन ने धमकी दी कि किसी को ये बात नहीं चलनी चाहिए.’

पटना एम्‍स का छात्र भांग पीकर गर्ल्‍स हॉस्‍टल में घुसा, तीन साल के लिए निष्‍कासित

हॉस्टल में रहती हैं 100 लड़कियां
स्कूल के हॉस्टल में कुल तीन कमरे हैं. हर कमरे में 20-20 बेड हैं. हर बेड पर दो लड़कियां सोती हैं. बताया जा रहा है कि हर कमरे में लड़कियों के साथ एक-एक टीचर को सोना चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं होता है. हॉस्टल में कक्षा 5, 6, 7 की करीब 100 लड़कियां रहती हैं. लड़कियों ने इस पूरे मामले की शिकायत जिला प्रशासन से की.

वॉर्डन और चपरासी को नौकरी से निकाला गया
जिला प्रशासन ने मामले की जांच के आदेश दिए. शिक्षा अधिकारी सतेंद्र कुमार ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है. वॉर्डन और चपरासी पर कार्रवाई करते हुए नौकरी से हटा दिया है. गर्ल्स हॉस्टल में लड़कियों की सुरक्षा के इंतेज़ाम किए जा रहे हैं. महिला होमगार्ड की ड्यूटी लगाई जा रही है. वहीं, वॉर्डन पूनम भारती ने इन आरोपों का खंडन किया है. उनका कहना है कि जिला प्रशासन को हॉस्टल में लगे सीसीटीवी फुटेज देखने चाहिए. सच सामने आ जाएगा.