लखनऊ: मौसम विभाग ने चेतावनी जारी की शनिवार को फिर से ख़राब हो सकता है मौसम, गुरूवार को आए आंधी- तूफ़ान और बारिश ने पूरे प्रदेश में भारी तबाही मचाई. लगभग 100 लोगों की जान गई और 150 से ज्यादा मवेशी मारे गए. सर्वाधिक तबाही आगरा जिले में हुई जहां 50 लोगों की मौत हुई दर्जनों घायल हुए और फसलें चौपट हो गईं. तूफ़ान ने पश्चिमी उत्तरप्रदेश में ज्यादा तबाही मचाई थी. मौसम विभाग की चेतावनी के मद्देनजर प्रदेश सरकार ने सभी जिलों के डीएम को अलर्ट जारी कर दिया है और निर्देशित किया है कि किसी भी आपदा से निबटने को जिला प्रशासन तैयार रहे. Also Read - KXIP vs DC: पूरन-गेल ने खेली तूफानी पारी, इस तरह अंतिम ओवरों में पंजाब ने जीता मुकाबला

इन जिलों को लेकर मौसम विभाग का अलर्ट
मौसम विभाग के अनुसार शनिवार को फिर से मौसम के करवट लेने के आसार हैं. प्रदेश के लगभग 2 दर्जन से ज्यादा जिलों में फिर से आंधी तूफ़ान आने के आसार हैं. मौसम विभाग की सूचनानुसार जिन जिलों में मौसम खराब हो सकता है उन्हें अलर्ट भेजा जा चुका है. कुछ मुख्य जिले हैं आंबेडकरनगर, बहराइच, गोरखपुर, गोंडा,गाजीपुर,कुशीनगर,महाराजगंज,सिकरी,बलिया,मऊ,संतकबीर नगर,खीरी,शाहजहांपुर,पीलीभीत,रामपुर,बरेली,एटा, अलीगढ,बागपत, महामायानगर,बुलंदशहर,मुरादाबाद समेत प्रदेश के कई और जिलों में भी मौसम विभाग ने चेतावनी जारी की है. Also Read - ICMR का बड़ा बयान, कहा- कोरोना के इलाज में अब प्लाज्मा थेरेपी बेअसर, उपचार प्रोटोकॉल से हटाने की योजना

अचानक हुए मौसम परिवर्तन से गर्मी का पारा गिरा
उत्तरप्रदेश की राजधानी लखनऊ समेत प्रदेश के कई जिलों में शुक्रवार को आंशिक बदली का असर दिखाई दे रहा है, जिससे तापमान में कमी दर्ज की गई है. मौसम विभाग के निदेशक जे.पी गुप्ता के अनुसार अधिकतम तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस तक की मामूली गिरावट आने की संभावना है. वहीं फिर से राज्य के कई हिस्सों में आंधी-तूफान आने की आशंका जताई है. जिसका असर पूर्वी उत्तरप्रदेश के कई जिलों समेत सम्पूर्ण प्रदेश में होने की सम्भावना है. मौसम विभाग के अनुसार, शुक्रवार को लखनऊ का न्यूनतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेलिसयस दर्ज किया गया. लखनऊ के अतिरिक्त शुक्रवार को गोरखपुर का न्यूनतम तापमान 22 डिग्री, कानपुर का 21.2 डिग्री, बनारस का 20 डिग्री, इलाहाबाद का 24 डिग्री और झांसी का 25.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है. Also Read - केंद्रीय मंत्री रामदास आठवले ने कहा- कमलनाथ ने दलितों का अपमान किया, पार्टी से निकाले कांग्रेस