नई दिल्ली: बुलंदशहर में कथित गौकशी की खबर के बाद भीड़ की हिंसा में एक पुलिसकर्मी समेत दो लोगों की मौत की घटना की पृष्टभूमि में उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात की. सूत्रों के मुताबिक, सीएम ने मौजूदा घटनाक्रम से पीएम मोदी को अवगत कराया.

जानकारी के मुता‍बिक, उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री शाम को दिल्ली पहुंचे और सीधे प्रधानमंत्री से मिलने गए. दोनों नेताओं के बीच क्या बातचीत हुई, इसके बारे में कुछ सामने नहीं आया है लेकिन उत्तरप्रदेश प्रशासन के सूत्रों ने बताया कि इसमें बुलंदशहर की घटना का जिक्र जरूर आयेगा. बता दें कि सोमवार को बुलंदशहर के चिंगरावठी पुलिस चौकी पर कथित गौकशी की खबर के बाद भीड़ की हिंसा के दौरान इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह मारे गए थे. उधर, बताया गया है कि अपर पुलिस महानिदेशक (अभिसूचना) मामले की जांच कर राजधानी वापस आ गये है और अपनी रिपोर्ट जल्द ही उच्चाधिकारियों को सौपेंगे. आईजी (अपराध) एस के भगत ने बृहस्पतिवार की शाम पत्रकार वार्ता में बताया कि आईजी मेरठ के नेतृत्व में चार सदस्यीय एसआईटी टीम ने जांच का काम शुरू कर दिया है.

बुलंदशहर हिंसा: घटना के कारणों व दोषियों को ब्‍योरा देने वाली रिपोर्ट तैयार, जल्‍द ही सीएम को देंगे

यूपी में सांप्रदायिक हिंसा के आरोपियों को बचा रही है योगी सरकार: येचुरी
उधर, माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर बुलंदशहर में हुई भीड़ जनित हिंसा के दोषियों को बचाने और निर्दोषों को पकड़ने का आरोप लगाया है. येचुरी ने कहा कि भाजपा सांप्रदायिक ध्रुवीकरण को तेज करते हुए अपनी सबसे गंदी वोट बैंक की राजनीति खेल रही है ताकि सांप्रदायिक हिंदुत्व वोटबैंक को मजबूत कर सके जिससे चुनावी फायदा मिल सके. येचुरी ने बुलंदशहर हिंसा का जिक्र करते हुए कहा कि तमाम निजी सेनायें उभर कर सामने आयी है जिनके माध्यम से लोगों पर हमले हो रहे हैं. उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में सरकार खुद अपने पुलिस अफसर को नहीं बचा पायी. हमलावरों के खिलाफ कार्रवाई करने के बजाय बिना सबूत एकत्र किये निर्दोष लोगों को पकड़ा जा रहा है. (इनपुट एजेंसी)