बांदा: यूपी के पूर्व डीजीपी सुलखान सिंह के छोटे भाई रजनीश सिंह पर शांति भंग किए जाने पर पुलिस द्वारा कार्रवाई की गई है. कार्रवाई बांदा पुलिस ने की है. बाद में पूर्व डीजीपी के भाई को जमानत पर रिहा कर दिया गया. Also Read - First Love Jihad Law Case: यूपी में 'लव जिहाद' कानून के तहत पहला मामला दर्ज, हिंदू लड़की का धर्म बदलवाना चाहता था उवैश अहमद

बता दें कि उत्तर प्रदेश के डीजीपी रहे सुलखान सिंह बांदा के जौहरपुर के पचासा डेरा मजरा के रहने वाले हैं. उनका परिवार इसी गांव में रहता है. पुलिस के अनुसार रविवार को पूर्व डीजीपी के सगे भाई रजनीश सिंह देशी शराब के ठेके पर गए. वह शराब उधार मांगने लगे. नहीं देने पर लड़ाई झगड़ा शुरू कर दिया. मौके पर पहुंचे बेंदाघाट पुलिस चौकी के प्रभारी उप निरीक्षक योगेंद्र पटेल ने उन्हें हिरासत में ले लिया. इसके बाद शांति भंग करने की कार्रवाई कर दी. इसके बाद पुलिस ने जमानत कराए जाने पर छोड़ दिया. Also Read - सरकार द्वारा बनाए जा रहे धर्मांतरण कानून का पूरी तरह विरोध करेगी सपा: अखिलेश यादव

इस मामले में रजनीश का कहना है कि वह शराब लेने नहीं गए थे, बल्कि नकली शराब बेचे जाने की सूचना पर गए थे. लोगों का कहना है कि डीजीपी के भाई ने हंगामा किया, तभी पुलिस ने उनके खिलाफ कार्रवाई की है. Also Read - सीएम योगी का बड़ा ऐलान, बोले- यूपी में शादी विवाह के लिए पुलिस या प्रशासनिक अनुमति की जरूरत नहीं