लखनऊ: यूपी टीईटी 2018 के लिए इस बार सरकार कोई कोर कसर नहीं छोड़ना चाहती है. अध्यापक पात्रता परीक्षा 2018 में परीक्षार्थी परीक्षा कक्ष में केवल प्रवेश पत्र व पेन लेकर जा सकेंगे. वहीं कक्ष निरीक्षक, पर्यवेक्षक या अन्य कर्मचारी भी परीक्षा केन्द्र के अंदर मोबाइल, इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस या कैलकुलेटर नहीं ले जा सकेंगे. बेसिक शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव डा. प्रभात कुमार ने टीईटी 2018 को नकलविहीन बनाने के लिए यह निर्देश जारी किया है.

उनका कहना है कि किसी भी परिस्थिति में परीक्षा खत्म होने से पहले प्रश्नपत्र सोशल मीडिया पर नहीं जाना चाहिए. अभ्यर्थी परीक्षा कक्ष में किसी भी तरह की इलेट्रॉनिक डिवाइस या कैलकुलेटर लेकर न जाए. इसके अलावा डबल लॉकर से प्रश्नपत्र निकालते समय ये सुनिश्चित किया जाए कि उसी पाली का प्रश्नपत्र निकाला जाए. परीक्षा खत्म होने के बाद ही परीक्षार्थियों को छोड़ा जाए. किसी भी दशा में परीक्षार्थी परीक्षा खत्म होने से पहले कक्ष नहीं छोड़ सकेगा.

UPTET 2018: रहें तैयार, upbasiceduboard.gov.in पर जल्द जारी होने वाला है एडमिट कार्ड

15 से 17 नवम्बर के बीच जिलों तक पहुंचाई जाएंगी प्रश्नपत्र व उत्तपुस्तिकाएं
बेसिक शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव डा. प्रभात कुमार ने बताया कि परीक्षा के लिए प्रश्नपत्र व उत्तपुस्तिकाएं 15 से 17 नवम्बर के बीच जिलों तक पहुंचाई जाएंगी और दोनों पालियों का प्रश्नपत्र अलग-अलग डबल लॉकर में रखा जाएगा. परीक्षा केन्द्र के 200 गज की परिधि में धारा 144 लागू रहेगी. इसके अलावा परीक्षा के दौरान हर पाली में अलग-अलग स्टैटिक मजिस्ट्रेट लगाए जाएंगे. जिलाधिकारी की अध्यक्षता में परीक्षा संचालन के लिए समिति बनाई जाएगी.