नई दिल्लीः महाराष्ट्र के पालघर के बाद यूपी के बुलंदशहर में सोमवार देर रात दो साधुओं की धारदार हथियार से गला काटकर हत्या कर दी गई. इस घटना के बाद से पूरे सूबे में हड़कंप मचा हुआ है. अब इस पूरे मामले में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है. पुलिस ने कहा कि इस घटना के पीछे केवल एक छोटी सी चोरी का मामला है जिसने इतना बड़ा रूप ले लिया. पुलिस ने इस मामले में एक आरोप को गिरफ्तार कर लिया है. Also Read - उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के खिलाफ दर्ज मुकदमा वापस, जानिए क्या है मामला

बुलंदशहर के पगोना गांव में हुई इस दर्दनाक घटना के बारे में पुलिस ने बताया आरोपी का नाम राजू है जिसे गांव में मुरारी के नाम से जानते हैं ने कुछ दिन पहले एक संत का चिमटा ले लिया था. इस मामले को लेकर संत आरोपी के घर गए थे और उन दोनों के बीच काफी कहा सुनी हुई थी. मुरारी उर्फ राजू ने संतों को धमकी दी थी और कहा था कि इसका गंभीर परिणाम भुगतना होगा. Also Read - Happy Birthday Yogi Adityanath: गांव की मिट्टी की चमक आज भी चेहरे पर दमकती है, देखें योगी आदित्यनाथ के CM बनने का सफर

पुलिस ने कहा कि इस मामले को किसी भी तरह से सांप्रदायिक रूप न दिया जाए. यह एक चोरी का ममला था जिसने इतना बड़ा रूप ले लिया. पुलिस ने जानकारी देते हुए कहा कि आरोप काफी दिनों से भांग आदि का नशा भी करता है और जिस वक्त उसने घटना को अंजाम दिया तब भी वह नशे मे ही था. अधिकारियों ने कहा कि आरोपी से जब पूछ ताछ की जा रही थी तो उसने कहा कि यह सब भगवान की मर्जी से हुआ है. इसके साथ ही पूछताछ में आरोपी ने यह भी कबूला कि उसने डंडे से सिर पर वार करके हत्या की. Also Read - B'day Spl: CM योगी आदित्यनाथ का 48वां जन्मदिन आज, PM मोदी ने ट्वीट कर दी बधाई, जानें सीएम बनने तक की खास बातें

इससे पहले सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने भी घटना पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि जो लोग भी इस कुकृत्य में शामिल होंगे उन्हें छोड़ा नहीं जाएगा. घटना की जानकारी मिलते ही उन्होंने डीएम सहित दूसरे आला अधिकारियों को त्वरित कार्रवाई करने के आदेश दिए.