नई दिल्ली: लॉकडाउन और प्रशासन के मना करने के बाद भी लगातार प्रवासी मजदूरों का पलायन जारी है. औरैया सड़क हादसे के बाद भी लोग चोरी छिपे गाड़ियों में पलायन कर रहे हैं जिसकी वजह से आए दिन सड़क दुर्घटनाएं सामने आ रही हैं. सोमवार रात को उत्तर प्रदेश के महोबा जिले में एक और सड़क दुर्घटना हुई जिसमें तीन महिलाओं की मौत हो गई. Also Read - दिल्ली से पटना फ्लाइट से गए मजदूर, एयरपोर्ट पर बोले- चप्पल पहनी हैं, हमें विमान में घुसने देंगे?

बताया जा रहा है यह घटना महोबा झांसी राष्ट्रीय राजमार्ग पर हुई. जानकारी के अनुसार प्रवासी मजदूर एक डीसीएम से अपने घर जा रहे थे लेकिन रास्ते में टायर फटने से डीसीएम पलट गई और उसमें मौजूद तीन प्रवासी महिला मजदूरों की मौके पर मौत हो गई. इस घटना में 12 लोग बुरी तरह से घायल हो गए हैं. घायलों को पास के अस्पताल में भर्ती कराया गया है. Also Read - सुप्रीम कोर्ट ने कहा- श्रमिकों से बस-ट्रेन का किराया न लें, सरकारों ने मजदूरों के लिए जो किया उसका नहीं हुआ फायदा

घटना की सूचना पाकर जिलाधिकारी समेट कई बड़े आला अफसर पहुंचे और राहत बचाव कार्य किया. यह हादसा पनवाड़ी कोतवाली क्षेत्र के झांसी-मिर्जापुर राष्ट्रीय राजमार्ग स्थित महुआ की मोड़ के पास देर रात को हुआ.

हादसे के बाद इलाके में कोहराम मच गया और फिर आस पास मौजूद लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी. नगरवासियों की मदद से घायलों को एंबुलेंस में बैठाकर इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया.

बताया जा रहा है कि इस ट्रक में कुल 25 लोग सवार थे जो दिल्ली से महोबा अपने नगर आ रहे थे लेकिन महुआ के पास पहुंचते ही ट्रक का पिछला पहिया पंचर हो गया जिससे ट्रक अपना संतुलन खो बैठा और पलट गया.