Uttar Pradesh News: उत्तर प्रदेश में पिछले दिनों भाजपा (UP BJP) को जोरदार झटका देते हुए पार्टी नेता स्वामी प्रवक्ता नंद (Swami Pravakta Nand) सपा में शामिल हो गए. उन्होंने जिला पंचायत चुनाव (Panchayat Chuvav) में टिकट ना मिलने पर नाराजगी जाहिर की और अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) के दल का हाथ थाम लिया. हालांकि आज मंगलवार को सबको चौंकाते हुए वो एक बार फिर भगवा दल में लौट आए. पार्टी छोड़ने और दोबारा लौटने को उन्होंने एक बड़े ऑपरेशन का हिस्सा बताया.Also Read - अखिलेश यादव ने कहा- लोकसभा चुनाव में BJP के खिलाफ बनेगा मजबूत विकल्‍प, बिहार में बदलाव सकारात्मक संदेश

भाजपा में दोबारा लौटने को स्वामी प्रवक्ता नंद ने इसे राजनीति का हिस्सा बताया. उन्होंने कहा कि ऐसे ऑपरेशनों में कई उपकरणों की आवश्यकता पड़ती है. किसी चीज को निकालने के लिए कई छोटे-छोटे औजार की जरुरत पड़ती है. भाजपा छोड़ते समय अपने पूर्व के आरोपों पर उन्होंने कहा, ‘मेरा ऐसा कोई आरोप नहीं था. वो निराधार हैं. मैंने ऐसी कोई बात नहीं कही.’ Also Read - Delhi Dehradun Expressway: अब बस दो से ढाई घंटे में दिल्ली से पहुंच जाएंगे देहरादून, जानिए इस एक्सप्रेसवे की क्या हैं खूबियां

दरअसल पूर्व में भगवा दल छोड़ते समय स्वामी नंद ने आरोप लगाया कि भाजपा के लोग प्रशासन के जरिए उनका आश्रम ध्वस्त कराना चाह रहे थे. उन्हें लगातार जान से मारने की धमकी दी जा रही थीं. उनसे पत्रकारों ने इन आरोपों पर पूछा तो स्वामी नंद मुकर गए. उन्होंने कहा कि अगर आपको लगता है कि मैंने ऐसा कहा तो ठीक है. Also Read - Viral Video: सड़क किनारे बैठे व्यक्ति की 50 सेकंड में हुई हत्या, कार चालक ने जानबूझकर चढ़ाई गाड़ी | Watch Video

अपने बचाव में उन्होंने कहा कि आजकल बहुत सारी डबिंग हो जाती हैं. फोटो किसी और का होता है और आवाज किसी और की होती है. अगर किसी ने ऐसा वीडियो बनाया है तो वो गलत है और उसका कोई आधार नहीं है. उल्लेखनीय है कि पूर्व में भाजपा छोड़ते समय में चंद ने कहा कि भाजपा ने कभी अच्छा नहीं किया. प्रवक्ता नंद को वरुण गांधी और मेनका गांधी का खास माना जाता है.