लखनऊ/देहरादून: उत्‍तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने बुधवार को टिहरी की कोटी कालोनी में पहुंचकर ‘टिहरी लेक फेस्टिवल’ की तैयारियों का निरीक्षण किया. मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र कैबिनेट की मीटिंग में हिस्‍सा लेने के लिए टिहरी पहुँचे थे. बता दें कि ‘टिहरी लेक फेस्टिवल’ 25 से 27 मई के बीच होगा. राज्‍य सरकार टिहरी को इंटरनेशनल स्तर का टूरिस्ट डेस्टिनेशन बनाने की दिशा में ऐसे आयोजन करवाने जा रही है. Also Read - Love Jihad: उप्र और उत्तराखंड के 'लव जिहाद' अध्यादेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में दायर हुई याचिका, दी गई ये दलील

मुख्यमंत्री ने कहा कि टिहरी लेक फेस्टिवल का राष्ट्रीय स्तर के साथ ही विदेशी पर्यटकों के मध्य भी प्रचार किया जाय. टिहरी को इंटरनेशनल स्तर का टूरिस्ट डेस्टिनेशन बनाना है. बाहर से सैलानियों को आकर्षित किया जाय. उनके अनुभवों को रेकर्ड करने और उनके फीड्बैक की भी व्यवस्था की जाय. उन्होंने कहा कि आज के प्रयास आने वाले कल को ध्यान में रखते हुए नियोजित किया जाय. मुख्यमंत्री ने बोट के द्वारा टिहरी झील में लगभग 30 मिनट निरीक्षण किया. उन्होंने झील और आसपास के क्षेत्र को पर्यटन विभाग की शीर्ष प्राथमिकता वाली योजनाओं में रखने का निर्देश भी दिया. इस अवसर पर पर्यटन मंत्री श्री सतपाल महाराज भी उपस्थित थे. Also Read - हरिद्वार कुंभ का पहला शाही स्नान महा शिवरात्रि 11 मार्च को, कुंभ के ये हैं खास स्नान की तिथियां

25 से 27 मई तक होगा लेक फेस्टिवल
इस अवसर पर डीएम टिहरी सोनिका ने लेक फेस्टिवल की तैयारियों को लेकर एक प्रस्तुतीकरण भी दिया. यह फेस्टिवल 25 से 27 मई तक आयोजित किया जाएगा. फेस्टिवल में सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ साहसिक खेल गतिविधियों और योग-ध्यान के कई आयोजन भी होंगे. फेस्टिवल का मुख्य आकर्षण झील की फ्लोटिंग हट्स भी होंगे, जिनकी बुकिंग गढ़वाल मण्डल विकास निगम द्वारा की जा रही है. डीएम ने बताया की टूर आपरेटर्स के साथ बात की जा रही कि वे अपने पैकेज में टिहरी लेक फेस्टिवल के लिए भी जगह बनाए. इस अवसर पर सीएस उत्पल कुमार सिंह एवं सचिव पर्यटन दिलीप जावलकर भी उपस्थित थे. Also Read - 2024 की तैयारी में जुटी भाजपा, 120 दिनों में देश के हर राज्य का दौरा करेंगे जेपी नड्डा