लखनऊ/देहरादून: उत्तराखंड में आगामी सप्ताहांत में होने वाले नगर निकाय चुनावों के लिए राजनीतिक दलों ने अपना चुनाव प्रचार तेज कर दिया है और उनके प्रमुख नेता अपनी पार्टी के प्रत्याशियों के लिए वोट जुटाने के लिए ताबड़तोड़ जनसभाएं कर रहे हैं. पार्टियों के पोस्टरों, बैनरों और चुनाव चिन्हों के साथ समर्थकों से लदे प्रचार वाहन अपने प्रत्याशियों के पक्ष में मतदाताओं को लुभाने के लिए पूरे प्रदेश में इधर से उधर दौड़ रहे हैं. Also Read - उत्तराखंड नगर निकाय चुनाव: कल होगा मतदान, आज सुबह 10 बजे से रवाना होंगी पोलिंग पार्टियां

चुनाव प्रचार के आखिरी दौर में आ जाने के कारण वाहनों के साथ ही अब प्रत्याशियों के समर्थक घर—घर जाकर भी समर्थन जुटाने का प्रयास कर रहे हैं. उत्‍तराखंड में सात नगर निगमों, 39 नगर परिषदों और 38 नगर पंचायतों सहित 84 नगर निकायों के लिए 18 नवंबर को मतदान होना है. मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और प्रदेश पार्टी अध्यक्ष अजय भटट प्रदेश भर में दौरे कर चुनाव प्रचार की अगुवाई कर रहे हैं. वहीं अगले एक—दो दिन में यहां भोजपुरी फिल्मों के लोकप्रिय अभिनेता और भाजपा की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष मनोज तिवारी भी प्रचार अभियान में हिस्सा लेंगे.

बीजेपी सरकार विकास के नाम पर मांग रही वोट
रावत ने अपनी चुनावी जनसभाओं में विकास और राज्य सरकार की भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टालरेंस की नीति के नाम पर वोट मांग रहे हैं. वह अपनी सरकार द्वारा सड़क और रेलवे की आधारभूत संरचनाओं के विकास कार्यों में तेजी से काम होने तथा पिछले साल भाजपा के सत्तासीन होने के बाद से पचास से ज्यादा लोगों को भ्रष्टाचार के लिये जेल भेजने की बात पर खास जोर दे रहे हैं. पूर्व मुख्यमंत्री और नैनीताल सांसद भगत सिंह कोश्यारी ने कल एक अपील जारी कर कल्याण योजनाओं का लाभ आम आदमी तक पहुंचाने के लिये जनता से भाजपा को वोट देने का आग्रह किया.

टिहरी झील में साहसिक खेलों को बढ़ावा देगी उत्‍तराखंड सरकार, पर्यटन मंत्री ने कही लाइसेंस देने की बात

कांग्रेस के लिए अहम है चुनाव
पिछले साल विधानसभा चुनावों में जबरदस्त जीत हासिल करने वाली भाजपा सरकार के लिए इन चुनावों को पहला टेस्ट माना जा रहा है. वर्ष 2017 में भाजपा ने 70 विधानसभा सीटों में से 57 पर जीत हासिल की थी. आगामी नगर निकाय चुनाव कांग्रेस के लिए भी कम अहम नहीं है क्योंकि पिछले साल विधानसभा चुनावों में महज 11 सीटों पर सिमट गयी पार्टी को प्रदेश में संजीवनी की जरूरत है. अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव और पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने भी कल देहरादून में पार्टी प्रत्याशियों के समर्थन में प्रचार शुरू कर दिया है.

उत्‍तराखंड विधानसभा में पास हुआ गाय को ‘राष्ट्रमाता’ घोषित करने का प्रस्ताव

पूर्व सीएम हरीश रावत ने कांग्रेस प्रत्‍याशी के लिए मांगे वोट
देहरादून में मेयर पद के लिये कांग्रेस के प्रत्याशी और पूर्व कैबिनेट मंत्री दिनेश अग्रवाल के लिये प्रचार करते हुए रावत ने कहा कि जनता ने देखा है कि पिछले 10 सालों से देहरादून नगर निगम में बहुमत होने के बावजूद भाजपा ने कोई काम नहीं किया है. राजधानी देहरादून के धर्मपुर में कई सभाओं को संबोधित करते हुए रावत ने कहा कि जनता अब भाजपा के खोखले वादों को समझ चुकी है और इस बार वह निकाय चुनाव में उसे करारा सबक सिखायेगी.’ निकाय चुनावों के लिये कांग्रेस ने अपना द्रष्टिपत्र भी जारी किया है जिसमें उसने हाल में राज्य सरकार द्वारा चलाये गये जबरदस्त अतिक्रमण विरोधी अभियान को लोगों को बेघर करने का प्रयास करार देते हुए जनता को अपनी तरफ करने की कोशिश की है.

विधानसभा चुनाव 2018 – ताज़ा खबर