देहरादून/लखनऊ: उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रदेशवासियों को पॉलीथिन का इस्तेमाल नहीं करने का अनुरोध करते हुए कहा कि राज्य सरकार ने आज से (एक अगस्‍त) से पॉलीथिन के प्रयोग पर सख्ती करने का निर्णय किया है. बता दें कि यूपी सरकार ने भी 15 जुलाई से प्‍लास्टिक के उपयोग पर बैन लगा दिया गया था. Also Read - 54 जिलों से हैं 50% प्रवासी, 44 यूपी-बिहार के ही, PM मोदी का वाराणसी, योगी का गोरखपुर, अखिलेश का इटावा लिस्ट में

Also Read - नोएडा में टिड्डी दल से बचाव के लिए बनी कमेटी, डीएम ने किसानों को दी सलाह

  Also Read - चार दिन से आग में झुलस रहे हैं उत्तराखंड के जंगल, काबू न होने पर भयावाह हो सकती है स्थिति

प्रदेश सरकारी की ओर से जारी सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार, मुख्यमंत्री ने कहा कि पॉलीथिन के इस्तेमाल से पर्यावरण तो प्रदूषित होता ही है, उसके साथ ही कृषि, पशु एवं पक्षियों को भी बहुत हानि पहुंचती है. रावत ने प्रदेश की जनता से प्रदेश को स्वच्छ रखने एवं पॉलीथिन का इस्तेमाल न करने की अपील करते हुए कहा कि राज्य सरकार ने एक अगस्त से पॉलीथिन के इस्तेमाल पर सख्ती करने का निर्णय लिया है, ताकि प्रदेश को स्वच्छ एवं निर्मल बनाया जा सके. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्वच्छता को जनांदोलन बना दिया है और पॉलीथिन का इस्तेमाल बंद कर हमें इस स्वच्छता अभियान में योगदान देना चाहिए.

योगी सरकार का बड़ा फैसला, यूपी में 15 जुलाई से प्‍लास्टिक बैन, कप-ग्‍लास व पॉलिथीन का नहीं कर सकेंगे उपयोग

यूपी में भी प्‍लास्टिक पर है पाबंदी

बता दें कि उत्‍तर प्रदेश की योगी सरकार ने बीते 15 जुलाई से प्रदेश में प्‍लास्टिक के उपयोग पर बैन लगा दिया था. मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि अब प्लास्टिक के कप, ग्लास और पॉलिथीन का इस्तेमाल किसी भी स्तर पर न हो. इसमें सभी की सहभागिता जरूरी होगी. उन्होंने कहा कि प्रदूषण में पॉलीथीन बड़ी भूमिका रही है, इसलिए ये कदम उठाए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि सरकार सफाई चाहती है. इसमें कोई लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए.