लखनऊ: प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में कैंट रेलवे स्‍टेशन के पास हुए हादसे में अब तक 18 लोगों के मौत की सूचना है. हालांकि मुख्‍यमंत्री की ओर से मंगलवा रात 15 लोगों के मौत की जानकारी दी गई. मंगलवार देर शाम कैंट रेलवे स्‍टेशन के पास निर्माणाधीन फ्लाईओवर गिरने से बड़ा हादसा हो गया था. इस दौरान पुल की शटरिंग के लिए बने वजनी पिलर के नीचे रोडवेज बस, बोलेरो समेत कई दोपहिया वाहन दब गये. उधर, देर रात सूबे के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ वाराणसी पहुंचे और घटनास्‍थल का दौरा किया. साथ ही उन्‍होंने अस्‍पताल पहुंचकर घायलों का हाल जाना. पुल हादसे के राहत कार्य में सेना और एनडीआरएफ की टीम लगी हुई है. उधर प्रशासन ने पुल गिरने के कुछ घंटे बाद ही कार्रवाई करके चार अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया है.Also Read - शख्स ने फोन पर पूछा- अब तुम कितने साल के हो, PM Modi ने दिया चौंकाने वाला जवाब

Also Read - ISI Terror Module: ओसामा के चाचा ने प्रयागराज में सरेंडर किया, देश में पूरे आतंकी नेटवर्क को को-ऑर्डिनेट कर रहा था

बता दें कि यूपी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में मंगलवार की शाम एक बड़ा हादसा हो गया. यहां कैंट रेलवे स्टेशन के पास निर्माणाधीन फ्लाईओवर का एक बड़ा हिस्सा गिर जाने से इसकी चपेट में आकर 18 लोगों की मौत हो गई. इस हादसे में कई वाहन दब गए और 50 से ज्यादा लोग घायल हो गए थे. अधिकारियों के मुताबिक अभी मरने वालों की संख्‍या में इजाफा हो सकता है. फ्लाईओवर का निर्माण उत्तर प्रदेश स्टेट ब्रिज कारपोरेशन करवा रहा था. मुख्य सचिव (गृह) अरविंद कुमार ने बताया कि एनडीआरएफ की सात टीमों के 325 जवान राहत व बचाव कार्य में लगे हुए हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वाराणसी में हुई इस दुर्घटना पर दुख व्यक्त किया है. Also Read - Terror Module: महाराष्‍ट्र ATS- मुंबई पुलिस ने आतंकी मॉड्यूल से जुड़े एक व्‍यक्ति को मुंबई में हिरासत में लिया

घटना स्‍थल पर देर रात पहुंचे मुख्‍यमंत्री
सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार देर रात घटनास्थल पर पहुंचे. उन्‍होंने पहले घटनास्थल पर जाकर राहत-बचाव कार्य का जायजा लिया. इसके बाद बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी के ट्रामा सेंटर में भर्ती घायलों से मिलने पहुंच गए. उन्‍होंने राहत बचाव कार्य में तेजी लाने के निर्देश भी दिए.

फ्लाईओवर हादसे में चार अधिकारी सस्‍पेंड
मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ ने पुल हादसे में फ्लाईओवर का निर्माण कर रही सेतु निगम के चीफ़ प्रोजेक्ट मैंनेजर एचसी तिवारी, प्रोजेक्ट मैनेजर राजेन्द्र सिंह और के.आर सूडान को सस्पेंड कर दिया है. साथ ही एक अन्य कर्मचारी को भी सस्पेंड किया है. यह जानकारी मुख्यमंत्री कार्यालय ने ट्विट कर के दी. इन अधिकारियों पर आरोप हैं कि निर्माण के दौरान उन्होंने सुरक्षा मानकों का पालन नहीं किया.