वाराणसी: उत्तर प्रदेश के वाराणसी के एक गांव में बुधवार तड़के एक डायनामाइट विस्फोट में एक पिता और उसके बेटे की मौत हो गई. पुलिस ने कहा कि यह विस्फोट अज्ञात हमलावरों ने किया. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि घटना में मरने वाला घर का मुखिया, अपने घर के आंगन में सोया हुआ था, जिसके विस्फोट में चिथड़े उड़ गए. Also Read - वाराणसी में कोरोनावायरस से हुई पहली मौत, चार जगहों पर लगा कर्फ्यू, यूपी में अब तक कुल तीन लोगों की मौत

मृतकों की पहचान 48 वर्षीय लालाजी यादव और 22 वर्षीय अजय यादव के रूप में हुई है. पुलिस अधिकारी ने कहा कि मिलोपुर गांव में अज्ञात हमलावरों ने मृतक के सिर के बगल में एक डायनामाइट की छड़ में विस्फोट किया. मृतक के सिर के टुकड़े 30 मीटर के दायरे में फैल गए. शुरुआत में पड़ोसियों ने इस घटना को टायर फटने की घटना समझ लिया था. Also Read - Covid-19 : उत्तर प्रदेश के इस शहर से एक और तबलीगी जमाती पाया गया कोरोना पॉजिटिव

पीएम मोदी ने काशी को सजाने संवारने के दिए टिप्स, कार्यकर्ताओं से संवाद किया Also Read - वाराणसी में मोदी किट को लेकर दो गुटों में भिड़ंत, इंस्पेक्टर समेत कई पुलिसकर्मी घायल 

अधिकारी ने कहा कि घटनास्थल से बरामद डायनामाइट छड़ और तार खद्यानों में पत्थरों को तोड़ने में इस्तेमाल होने वाले विस्फोटक के समान प्रतीत हो रहे हैं. वहीं ग्रामीणों ने घटना को लेकर विरोध प्रदर्शन किया, जिसके कारण पहड़ियां-बलुआ मार्ग पर यातायात बाधित हुआ.