वाराणसी: प्रवासी भारतीय सम्मेलन के दौरान प्रवासियों के बीच बांटी गयी पुस्तिका में पूर्व विदेश राज्य मंत्री एम जे अकबर को तत्कालीन विदेश मंत्री के रूप में दर्शाये जाने से हड़कंप मच गया है. आयोजकों की ओर से प्रवासी भारतियों को बांटी गयी किट की पुस्तिका में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह के साथ ही पूर्व मंत्री एमजे अकबर की फोटो भी छपी हुई है. इससे विवाद उत्पन्न हो गया.

इस दौरान कार्यक्रम में उपस्थित अधिकारियों ने कहा कि पुस्तिका काफी पहले प्रकाशित हो गयी थी, जिसके चलते बुकलेट में पूर्व विदेश राज्य मंत्री एम जे अकबर को तत्कालीन विदेश मंत्री के रूप में दर्शाये जाने की भूल हुई है. गौरतलब है कि एम जे अकबर को मी टू अभियान के बाद यौन उत्पीड़न के मामले में इस्तीफा देना पड़ा था. वैसे अकबर ने इन आरोपों से इनकार किया था.

प्रवासी भारतीय कार्यक्रम में बांटी गयी पुस्तिका में कवर पेज पर पीएम मोदी और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ ही एम जे अकबर की फोटो छपी थी. प्रवासी भारतीय दिवस कार्यक्रम में इस पुस्तिका के वितरण पर सोशल मीडिया पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की गयी. कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने ट्वीट किया, ‘मी टू के आरोपी को स्टार की तरह दिखाया गया? क्या उन्होंने इस्तीफा नहीं दिया है?’