लखनऊ: वाराणसी के प्रसिद्ध संकट मोचन मंदिर में बड़ा बम धमाका करने की धमकी दी गई है. किसी अज्ञात ने मंदिर के महंत प्रो. विश्वम्भरनाथ मिश्र को धमकी भरा पत्र भेजा है. मामले की गंभीरता को देखते हुए प्रो. मिश्र ने एसएसपी से मुलाकात कर उन्हें पूरी जानकारी दी.

 

संकट मोचन मंदिर के महंत प्रो. विश्‍वम्‍भरनाथ मिश्र को सोमवार रात एक धमकी भरा पत्र मिला. पत्र में लिखा था कि मंदिर में मार्च 2006 से भी बड़ा धमाका करेंगे. पत्र में धमकी को हल्‍के में न लेने की चेतावनी भी दी गई है. पत्र मिलने के बाद पूरे मामले की जानकारी पुलिस को दी गई. सूचना पर पुलिस महकमे में हड़कम्प मच गया है. एसएसपी ने उच्चाधिकारियों की बैठक बुलाई और पूरे मामले की जांच की जिम्मेदारी क्राइम ब्रांच को सौंपी है. क्राइम ब्रांच ने मामले से जुड़े हर पहलू पर गंभीरता से जांच शुरू कर दी है.

एसएसपी ने की पत्र मिलने की पुष्टि
वाराणसी के एसएसपी आनंद कुलकर्णी ने संकट मोचन मंदिर के महंत प्रो. विश्‍वम्‍भरनाथ मिश्र को धमकी भरा पत्र मिलने की पुष्टि की है. साथ ही उन्होंने आशंका जताई कि ऐसा किसी को फंसाने के लिए भी किया जा सकता है. फिलहाल मामले की पूरी तरह जांच शुरू कर दी गई है.

2006 में हुई थी 7 लोगों की मौत
सात मार्च 2006 को संकट मोचन मंदिर, कैंट रेलवे स्‍टेशन और दशाश्‍वमेध घाट पर सिलसिलेवार बम धमाके हुए थे. इन धमाकों में कुल सात लोगों की मौत हुई थी, जबकि सौ से अधिक लोग घायल हो गए थे. यह बम धमाका देश के 10 बड़े आतंकी हमलों से एक बताया जाता है. पुलिस की जांच-पड़ताल में पता चला था कि बम बिहार में बनाए गए थे लेकिन विस्‍फोट सामग्री नेपाल से लाई गई थी.