लखनऊ: अयोध्या में धर्म सभा की तैयारी को लेकर विश्व हिन्दू परिषद सहित संघ परिवार ने कमर कस ली है. राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ, विश्व हिन्दू परिषद और भारतीय जनता पार्टी सहित पूरा संघ परिवार कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए सक्रिय हो गया है. रविवार को कारसेवकपुरम में प्रदेश और जिला स्तरीय पदाधिकारियों की विभिन्न सत्रों में बैठकें भी हुई. धर्म सभा में अधिकाधिक रामभक्तों की उपस्थिति दर्ज हो इसके लिए पदाधिकारियों को दायित्व सौंपे गए.

मुख्तार अब्बास नकवी का दावा, जल्द सुलझाएं राम मंदिर मुद्दा, दोस्ताना हल चाहते हैं मुसलमान

विश्व हिन्दू परिषद के क्षेत्रीय संगठन मंत्री अम्बरीश सिंह ने बताया कि 25 नवम्बर को अयोध्या के बड़ा भक्तमाल की बगिया, पंच कोसी परिक्रमा मार्ग, रामघाट के प्रांगण में ‘विराट धर्म सभा’ का आयोजन दोपहर 12 बजे किया जाएगा. कार्यक्रम की सफलता के लिए प्रदेश का प्रत्येक रामभक्त तत्पर है. अयोध्या में दिव्य और भव्य मंदिर निर्माण हो यह संकल्प हम सबने ले रखा है. उन्होंने कहा कि संघ परिवार का प्रत्येक अनुसांगिक संगठन इस कार्यक्रम को व्यापक स्वरूप प्रदान करने के लिए तत्पर हो गया है. हिन्दुओं के श्रद्धा, भक्ति और आस्था के केन्द्र श्रीराम जन्मभूमि को प्राप्त करने के लिए लाखों रामभक्तों ने अपनी आहुति दी, उस राम की जन्मभूमि को देश की अदालत प्राथमिकता ही नहीं देती है. यह देश की जनता को बताने का समय आ गया है इसके लिए विश्व हिन्दू परिषद सब कुछ करेगा.

अयोध्या में राममंदिर के वास्ते कानून लाने की मांग पर रैलियां करेगी विश्व हिंदू परिषद

संत-धर्माचार्यो की उपस्थिति में कार्यक्रम हेतु होगा भूमि पूजन
उन्होंने बताया कि विहिप उपाध्यक्ष चम्पत राय के मार्गदर्शन में बड़ा भक्त माल परिसर का निरीक्षण भी हुआ जिसमें विहिप के केन्द्रीय मंत्री राजेन्द्र सिंह पंकज, सांसद लल्लू सिंह, विधायक वेद प्रकाश गुप्ता, महापौर ऋशिकेश उपाध्याय सहित सभी प्रमुख पदाधिकारी उपस्थित रहे. इस दौरान यह तय हुआ कि सोमवार को अभिजित मुहूर्त प्रात: 10 बजे संत-धर्माचार्यो की उपस्थिति में कार्यक्रम हेतु भूमि पूजन किया जाएगा. दूसरी तरफ कारसेवकपुरम में रविवार प्रात: से ही धर्मसभा की तैयारी को लेकर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ सहित विश्व हिन्दू परिषद के चारों प्रांतों के पदाधिकारियें की बैठकों का चक्र सायंकाल तक चला. (इनपुट एजेंसी)