कानपुर: उत्तर प्रदेश में कानपुर के बिकरु कांड में पुलिस मुठभेड़ में मारे गये प्रभात मिश्रा के पिता राजेन्द्र मिश्रा, जो की गोली चलाने में शामिल थे.वह 50 हजार का इनामी है. उसे आज पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने शिवराजपुर के पास एक फैक्ट्री से विकास के साथ रहे पचास हजार के इनामी राजेंद्र मिश्रा को गिरफ्तार किया है. राजेंद्र मुठभेड़ में मारे गए प्रभात मिश्रा के पिता है, जो बिकरू में दबिश के समय पिस्टल से पुलिस पर गोलियां बरसा रहा था. पुलिस ने उससे गहन पूछताछ शुरू की है. Also Read - पिता करते थे मजदूरी, बेटी अचानक बन गई करोड़पति, कहा-मुझसे मत पूछो..जानिए कहानी

पुलिस अधीक्षक ग्रामीण ब्रजेष श्रीवास्तव ने बताया कि राजेंद्र सरेंडर करने की फिराक में था और वकील से मिलने आया था तभी उसे दबोच लिया गया .एसपी ने बताया कि बिकरु कांड में वांछित चल रहे 50,000 के इनामी अपराधी राजेंद्र मिश्रा को चौबेपुर पुलिस ने एक पशु आहार फैक्ट्री के गेट नंबर 2 से गिरफ्तार किया है.पुलिस उससे पूंछताछ कर रही है. Also Read - दिव्यांग शख्स को पीटने वाला पलिस कांस्टेबल निलंबित, वीडियो वायरल होने के बाद हुई कार्रवाई

राजेंद्र जब पत्रकारों के सामने लाया गया तो वह रो पड़ा.उसने कहा कि घटना के बाद उसे आत्मग्लानि है, उसका सबकुछ बर्बाद हो चुका है.इकलौता बेटा प्रभात पुलिस मुठभेड़ में मार दिया गया है. Also Read - हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट का पर्दाफाश, संदिग्ध अवस्था में पकड़ी गईं सात युवतियां-पांच लड़के

ज्ञात हो कि कानपुर के बिकरू गांव में 2 जुलाई की रात कुख्यात विकास दुबे को पकड़ने के लिए दबिश देने के दौरान सीओ समेत आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में राजेंद्र मिश्रा फरार चल रहा था.पुलिस ने उसपर पचास हजार का इनाम घोषित किया था.

विकास के एनकाउंटर से पहले पुलिस ने उसके साथी प्रभात मिश्रा को मुठभेड़ में ढेर कर दिया था.प्रभात के साथ उसका पिता राजेंद्र मिश्रा भी पुलिस कर्मियों की हत्या में शामिल था.पुलिस को लंबे समय से उसकी तलाश थी.आज वह पुलिस के हत्थे चढ़ गया.