वाराणसी: पिछले कुछ दिनों से हो रही भारी बारिश के चलते पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में गंगा के जलस्तर में लगातार बढ़ोतरी हो रही है. पिछले 24 घंटों में केंद्रीय जल आयोग की ओर से 10 सेंटीमीटर से अधिक की बढ़ोतरी दर्ज की गई है. गंगा नदी अब खतरे के निशान के बेहद करीब बह रही है. तटवर्ती मंदिर जलमग्न हो गए हैं और कई इलाकों में पानी भर गया है. बढ़ते जलस्तर को लेकर प्रशासन हाई अलर्ट पर है. लोगों को भी इस समय गंगा नदी में स्नान करने व तटवर्ती इलाकों में न जाने की सलाह दी गई है.Also Read - UP Rain Update: यूपी के इन 8 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, कई जिलों में बाढ़ का भी खतरा

Also Read - Bihar Weather Update: बिहार के 6 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी, 10 नदियों का जलस्तर खतरे के निशान के ऊपर

पानी पानी हुई राजधानी, एयरपोर्ट पर भी जलभराव, सीएम कर रहे बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई दौरा Also Read - Weather Forecast: UP-Bihar में भारी बारिश का अलर्ट जारी, जानें कहां बरसेंगे बादल

पानी पानी हुई राजधानी, एयरपोर्ट पर भी जलभराव, सीएम कर रहे बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई दौरा

गंगा आरती का स्थान बदला गया

गंगा नदी का जल स्तर बढ़ने से गंगा के घाटों का संपर्क टूट गया है घाट जलमग्न हो गए हैं. प्रशासन ने अलर्ट के चलते छोटे मंदिरों में पूजा अर्चना बंद करवा दी है, जबकि गंगा आरती का स्थान बदल दिया गया है. गंगा के बढ़ते जल स्तर को देखते हुए प्रशासन कंट्रोल रूम स्थापित किया है वहीँ एनडीआरएफ की टीम लगातार घाटों पर मुस्तैद है, नगर निगम की टीम भी प्रभावित क्षेत्रों की सफाई और बाढ़ चौकियां बनाने की तैयारी में जुटा हुआ है.

पूर्वांचल समेत प्रदेश के कई इलाकों में बाढ़ के हालात, सीएम योगी करेंगे प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वे

तेज बारिश व गंगा के बढ़े जलस्तर के चलते शव दाह (अंत्येष्टि ) भी छत पर किया जा रहा है. शहर के निचले इलाकों में जलभराव हो गया है. लोगों का घरों से निकलना दूभर हो गया है. मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक अभी अगले 48 घंटों तक तेज बारिश की सम्भावना बनी हुई है.