गाजियाबाद : जनपद की लोनी तहसील के एक लेखपाल का रिश्वत लेने का वीडियो वायरल होने के बाद एसडीएम ने आरोपी लेखपाल को सस्पेंड कर दिया. पीड़ित ने आरोपी लेखपाल के विरुद्ध बीजेपी विधायक नंदकिशोर गुर्जर के पास गुहार लगाई थी. मामले की जानकारी मिलते ही विधायक ने लेखपाल की संबधित अधिकारियों से शिकायत की. वहीं वीडियो वायरल होने के बाद इस मामले को संज्ञान में लेते हुए एसडीएम लोनी सतेंद्र कुमार सिंह ने लेखपाल को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया. Also Read - यूपी: SDM ने लोगों पर बरसाए डंडे, ये वीडियो सामने आने पर CM योगी ने तत्‍काल किया सस्‍पेंड

ये है मामला
लोनी तहसील क्षेत्र के अगरोला गांव के लेखपाल बाबूलाल ने एक व्यक्ति से पैमाइश करने की एवज में 55 हजार रुपया लिए और उसका काम भी नहीं किया. पीड़ित के साथी ने पैसे देते समय लेखपाल का वीडियो बना लिया था. जब लेखपाल ने काम नहीं किया तो पीड़ित ने लेखपाल की शिकायत विधायक नंदकिशोर गुर्जर से की. हालांकि रिश्वत लेने वाले के साथ ही रिश्वत देने वाला भी दोषी होता है. Also Read - सीबीआई ने 25 लाख रुपए की रिश्वत मामले में डीआरआई के एडीजी को गिरफ्तार किया

मामला संज्ञान में आते ही विधायक ने तत्काल उच्च अधिकारियों से इस मामले की शिकायत करते हुए गंभीर प्रकरण में तत्काल कार्रवाई करने की मांग की. रिश्वत लेने के दौरान बनाए गए वीडियो को भी उच्च अधिकारियों को भेजा गया. इस पर संज्ञान लेते हुए अधिकारियों ने एसडीएम लोनी को लेखपाल बाबूलाल को तत्काल निलंबित करने का निर्देश दिया. जिसके बाद एसडीएम ने तत्काल प्रभाव से लेखपाल को निलंबित कर दिया. एसडीएम सतेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि वीडियो देखकर प्रथम दृष्टया यह मामला भ्रष्टाचार का प्रतीत होता है. लेखपाल बाबूलाल को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है. हालांकि रिश्वत लेने वाले के साथ ही अपने काम के एवज में रिश्वत देने वाला भी दोषी होता है. फिलहाल मामले की तफ्तीश जारी है.
( इनपुट एजेंसी ) Also Read - रिश्वत के ऑफर से परेशान इंजीनियर ने अपनाया ये तरकीब, सोशल मीडिया पर लोगों का खींच रहा है ध्यान