नई दिल्‍ली: मंगलवार को उत्‍तर प्रदेश के मथुरा स्‍टेशन पर एक ऐसा नजारा देखने को मिला जिसमें कुछ पल के लिए वहां मौजूद लोगों की जुबान हलक में अटक कर रह गई, लेकिन थोड़ी देर बाद ही माहौल ऐसा खुशनुमा हो गया क‍ि सब एक-दूसरे को गले लगाकर बधाइयां देने लगे.

हुआ यूं कि मंगलवार को मथुरा स्‍टेशन पर ट्रेन आने वाली थी तभी एक साल की एक बच्‍ची प्‍लेटफॉर्म और पटरियां के बीच गिर गई. सामने से आती हुई ट्रेन को देख किसी की उसे उठाने की हिम्‍मत नहीं हुई. ट्रेन की बेतहाशा स्‍पीड देखते हुए उस बच्‍ची के जीवित बचने की संभावना किसी को नहीं थी, लेकिन जब बचाने वाला तैयार हो तो मारने वाला चाहकर भी कुछ नहीं बिगाड़ सकता.

मथुरा स्‍टेशन पर भी ऐसा ही दृश्‍य देखने को मिला. ट्रेन की तेज आवाज की शोर में बच्‍ची के रोने की आवाज गुम हुई लेकिन ट्रेन निकलते ही फिर से उसकी आवाज सुनाई दी. लोगों ने डरकर पटरियों की ओर देखा तो बच्‍ची को एक खरोंच तक नहीं आई थी. लोगों ने जल्‍दी-जल्‍दी उसे उठाया और फिर महिलाओं को थमा दिया. शोर-शराबे के बीच लोगों को यह दृश्‍य इतना भावुक कर गया कि लोग एक-दूसरे को गले लगकर बधाइयां देने लगे.