रायबरेली: उत्तर प्रदेश की जेलें अक्सर विवादों से घिरी रहती हैं. यूपी की रायबरेली जेल के बैरक को तो कैदियों ने जेल को ही मयखाने में तब्दील कर दिया. जेल के अंदर शराब पी रहे हैं. कई तरह का खाना सामने रखा हुआ है. असलहा और कारतूस कैदियों के सामने पड़े हुए हैं. इतना ही नहीं वायरल हुए वीडियो में कैदी फोन पर आदेश देते हुए दिख रहे हैं कि सुनो बेटा, सामान ले आना. जेलर को 10 हजार रुपए दे देना. गेट पर आकर डिप्टी जेलर को फोन कर लेना. वाइट वाली दारु की बोतल ले आना. अरे बेटा सुनो… ये रायबरेली जेल है. यहां असलहे खुलेआम घूमते हैं.’ इस बातचीत और जेल के अंदर का वीडियो वायरल होने के बाद हड़कंप मचा हुआ है. वीडियो सामने आने के बाद रायबरेली जेल के सीनियर सुपरिंटेंडेंट (जेल अधीक्षक) प्रमोद कुमार शुक्ला, जेलर गोविन्दराम वर्मा सहित छह अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया है. निलंबित किए गए अफसरों के खिलाफ प्रमुख सचिव गृह ने विभागीय कार्रवाई के आदेश दिए हैं. वीडियो सामने आने के बाद डीआईजी जेल उमेश श्रीवास्तव जिला जेल का निरीक्षण करने पहुंचे हैं.

कई कैदी शराब पी रहे हैं और खाना खा रहे हैं.

कई कैदी शराब पी रहे हैं और खाना खा रहे हैं. India.com के पास वायरल हो रहा है वीडियो भी है, लेकिन भाषा आपत्तिजनक होने के कारण यहां अपलोड नहीं किया गया है.

महफिल सजाकर बैठे कैदी
राजधानी लखनऊ से करीब 100 किलोमीटर दूर रायबरेली में जिला कारागार है. एक वीडियो वायरल हो रहा है, जो इसी जेल का बताया जा रहा है. वीडियो में चार कैदी दिख रहे हैं. सामने कई तरह का खाना दिख रहा है. कैदी खाना खा रहे हैं. शराब, सिगरेट पी रहे हैं. कैदियों के पास फोन भी है. एक कैदी फोन पर किसी से बात कर रहा है. वीडियो में सुनाई दे रही बातचीत में कैदी फोन पर कह रहा है कि सुनो बेटा, सामान ले लेना. जेलर को दस हजार रुपए लेकर दे देना. जब सब सामान ले लेना तो पांच हजार रुपए दे देना. गेट पर आकर डिप्टी जेलर को फोन कर लेना. व्हाइट वाली दारू की बोतल ले लेना. और थोड़ा जल्दी आना. इसी बीच बात कर रहे कैदी से दूसरा कैदी फोन ले लेता है और कहता है कि सुनो बेटा ये रायबरेली जेल है. यहां असलहे खुलेआम घूमते हैं.

 

कैदी फ़ोन पर गले गलौज कर किसी को रुपए जेलर तक पहुंचाने की धमकी दे रहे हैं.

कैदी फ़ोन पर गले गलौज कर किसी को रुपए जेलर तक पहुंचाने की धमकी दे रहे हैं.

 

कैदियों पर मुकदमा दर्ज, छह अधिकारी निलंबित
ये वीडियो वायरल होने के बाद प्रशासन में हड़कंप मच गया. वीडियो वायरल होते ही वीडियो में दिख रहे कैदियों का तबादला दूसरी जेल में कर दिया गया. इसके साथ ही जेल अधीक्षक प्रमोद कुमार शुक्ला, जेलर गोविन्दराम वर्मा, डिप्टी जेलर सहित छह अधिकारीयों को निलंबित कर दिया गया है. इसके साथ ही वीडियो में दिख रहे कैदियों के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज करा दिया गया है. घटना के बाद जिला कारागार की तलाशी ली गई. यहां से अधिकारीयों को सिगरेट, माचिस, सहित कई आपत्तिजनक सामान बैरकों में पाए गए हैं.