कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे के साथी जयकांत बाजपेयी के खिलाफ के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की गई है. अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने बृहस्पतिवार देर रात एक बयान में बताया कि जयकांत बाजपेयी के विरूद्ध गिरोह बनाकर अपराध करने व अवैध संपत्ति अर्जित करने के संबंध में थाना नजीराबाद कानपुर में उप्र गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है. गैंग के अन्य सदस्यों में उसके भाई शोभित बाजपेयी, रजयकांत बाजपेयी तथा अजयकांत बाजपेयी शामिल है .Also Read - UP Vikas Dubey Case: पुलिस ने खोद डाला था विकास का घर, निकाल दिया था तालाब का पानी, 8 महीने बाद मिली बिकरू कांड की रायफल

बयान में आगे कहा गया कि जयकांत बाजपेयी व उसके साथियों का एक संगठित गिरोह है जो सरकारी जमीन पर कब्जा करने, विधि विरूद्ध जमाव, गाली गलौज, मारपीट कर जघन्य घटनाएं कारित कर स्वयं व अपने गिरोह के सदस्यों के आर्थिक लाभ के लिये धन अर्जित कर समाज विरोधी क्रिया कलाप करता है. अभियुक्त जयकांत बाजपेयी वर्तमान में जिला जेल कानपुर देहात में बंद है जबकि शेष अन्य की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं. Also Read - Encounter In Vikas Dubey Style: पुलिस मुठभेड़ में मारा गया कुख्यात गिरधारी, याद आया विकास दुबे, जानिए क्यों

इससे पहले 27 जुलाई सोमवार को उप्र सरकार ने जनपद कानपुर नगर के अभियुक्त जयकान्त बाजपेई द्वारा अवैध रूप से अर्जित की गई सम्पत्ति की जांच आयकर विभाग तथा प्रवर्तन निदेशालय से कराये जाने का अनुरोध द्वारा किया था. जयकांत मारे गये गैंगस्टर विकास दुबे का खास सहयोगी और खजांची माना जाता था. Also Read - बिकरू कांड: कानपुर के तत्‍कालीन एसएसपी रहे IPS अनंत देव सस्‍पेंड, 8 पुल‍िसकर्मियों की हत्‍या हुई थी

(इनपुट भाषा)