लखनऊ: विकास दुबे अब मारा जा चुका है. इस बीच यूपी एसटीएफ लगातार जानकारी जुटाने में जुटी हुई है. वहीं एसटीएफ के हाथ एक अहम जानकारी लगी है. कानपुर एनकाउंटर के मुख्य आरोपी के साथ एक नया नाम जय बाजपेयी का जुड़ा है. यह शख्स विकास दुबे का करीबी है. जांच में यह पता चला है कि विकास दुबे के पैसों को जय बाजपेयी बाजार में सूद पर लगाता था. साथ ही नोटबंदी के पहले विकास दुबे के 6.30 करोड़ नकदी कैश को जय बाजपेयी को दिए थे. इसपर 2 प्रतिशत सूद लगाकार बाजार में चलाने के लिए कहा था. Also Read - यूपी का बिकरू हत्याकांड: जब्‍त हथियारों में कई लोगों के फिंगरप्रिंट्स मिले, क्‍या सजा दिलाने में होगी मुश्‍किल?

जांच में पता चला है कि जय बाजपेयी ने इन पैसों के 5 प्रतिशत ब्याज पर बाजार में कई कारोबारियों को दिया. इस पैसे से जो गाढ़ी कमाई होती थी. उसे जय विकास दुबे को दे दिया करता था. इसी मामले में एक विकास दुबे की कार को लेकर भी खुलासा किया गया है. बताया जा रहा है कि विकास दुबे के पास जो फार्च्यूनर कार थी. उसे कानपुर के एक बड़े व्यापारी ने साल 2015 में गिफ्ट की थी. Also Read - हार्ले डेविडसन और हीरो मोटोकॉर्प में हुआ समझौता, भारतीय बाजार में मिलकर करेंगे काम

यूपी एसटीएफ को जांच में यह भी पता चला है कि जय बाजपेयी विकास के पैसों को विदेशों में भी लगाता था. दुबई और थाईलैंड जैसे जगहों पर भी विकास के पैसे लगाए जाने की खबर सामने आ रही है. बता दें कि 9 जुलाई को विकास दुबे उज्जैन में पकड़ा गया था और 10 जुलाई को यूपी पुलिस और यूपी एसटीएफ ने विकास को एनकाउंटर में मार गिराया. बता दें कि विकास गाड़ी के पलटने के बाद पुलिसकर्मी की हथियार छीनकर भाग रहा था और गोलीबारी कर रहा था. इसी दौरान गोली लगने से उसकी मौत हो गई. Also Read - दो महीने पहले एनकाउंटर में मारे गए विकास दुबे के खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा, जानें मामला