नई दिल्ली: बीती रात पत्रकार विक्रम जोशी पर गाजियाबाद में बदमाशों द्वारा जानलेवा हमला किया था. इस बीच इलाज के दौरान आज विक्रम जोशी की यशोदा अस्पताल में मौत हो गई. बता दें कि बीते रात बदमाशों ने विक्रम जोशी को घेरकर गोली मारी थी. इसके बाद उन्हें गंभीर हालत में अस्पताल लाया गया था. यहां उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया जिसके बाद आज उनकी मौत हो गई. बता दें कि सारा विवाद छेड़छाड़ से शुरू हुआ था. Also Read - सभी मीडिया हाउस के ऑफिस में जाकर कोरोना वैक्सीन लगाएगी दिल्ली सरकार, खुद उठाएगी सारा खर्चा

पत्रकार जोशी की भांजी को परेशान कर रहे युवकों के खिलाफ उन्होंने पुलिस में शिकायत की थी. इस कारण शिकायत करने से नाराज आरोपियों ने बीती रात उन्हें घेरकर सिर में गोली मार दी. बता दें कि इस पूरी घटना का नजदीक के ही सीसीटीवी में रिकॉर्ड हो गया है. इस बाबत पुलिस पर विक्रम के परिजनों ने सवाल खड़ा कर दिया है. परिजनों ने कहा है कि विक्रम की शिकायत को लेकर पुलिस द्वारा लापरवाही बरती गई. Also Read - सीनियर पत्रकार शेष नारायण सिंह का कोरोना संक्रमण के चलते निधन, PM मोदी ने शोक जताया

बता दें कि इस मामले में चौकी इंचार्ज को सस्पेंड किया जा चुका है. साथ ही एसएसपी कलानिधि नैथानी ने चौंकी इंचार्ज राघवेंद्र को सस्पेंड कर दिया है और पूरे मामले की जांच क्षेत्राधिकारी को सौंप दी है. बता दें कि अबतक 9 लोगों को इस मामले में गिरफ्तारी हो चुकी है. पुलिस अभी नामजद अपराधी आकाश बिहारी की तलाश में जुटी हुई है. Also Read - UP Coronavirus Updates: गाजियाबाद के पुलिस प्रमुख व CMO समेत 50 अधिकारी कोरोना वायरस से संक्रमित