नोएडा: गौतम बुद्ध नगर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्ण के तीन कथित फर्जी अश्लील वीडियो सोशल मीडिया पर जारी करने वाले अपराधियों के खिलाफ एसएसपी ने देर रात मुकदमा दर्ज कराया है. पुलिस घटना की रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच कर रही है. एसएसपी ने दावा किया है आईपीएस अफसरों और पत्रकारों व नेताओं के एक संगठित गिरोह का खुलासा करने के बाद उनके खिलाफ षड्यंत्र रच कर फर्जी वीडियो को वायरल किए गए हैं. Also Read - सड़क पर ठुमके लगा-लगाकर Coronavirus ने किया डांस, पब्लिक ने खूब लिए मजे, और फिर... देखें Viral Video

एसएसपी ने बताया कि एक माह पूर्व उन्होंने उत्तर प्रदेश शासन को एक गोपनीय रिपोर्ट भेजी है. जिसमें कई आईपीएस अफसरों और पत्रकारों व नेताओं के एक संगठित गिरोह का खुलासा किया गया है, जो उत्तर प्रदेश में ठेका दिलवाने, पोस्टिंग करवाने, अपराधिक कृत्य को संरक्षण देने आदि का काम करते हैं. उन्होंने शक जताया कि इस गिरोह के लोगों ने ही उनके खिलाफ षड्यंत्र रच कर फर्जी वीडियो को वायरल किया है. Also Read - MS Dhoni बोले-यार हमेशा एक खिलाड़ी गायब क्‍यों हो जाता है, स्‍टंप माइक में कैद हुआ वाक्‍या, Video Viral

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वैभव कृष्ण ने बताया कि इन वीडियो को सोशल मीडिया पर वायरल करने वालों की जल्द ही गिरफ्तारी की जाएगी. उन्होंने बताया कि इस मामले के खुलासे के लिए साइबर सेल व थाना सेक्टर 20 पुलिस की एक टीम बनाकर जांच की जा रही है. ये वीडियो सोशल मीडिया पर दो दिनों से वायरल हो रहे हैं.

वीडियो जारी होने के बाद बीती रात पुलिस कप्तान ने प्रेस वार्ता आयोजित कर कहा कि उनकी छवि को खराब करने के लिए षडयंत्र रचा गया है. उन्होंने कहा कि एक साल की पोस्टिंग के दौरान उन्होंने संगठित अपराध करने वाले लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की है. भ्रष्टाचार में शामिल पुलिस विभाग के कई लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेजा है. अवैध उगाही में शामिल कई तथाकथित पत्रकारों को गिरफ्तार किया गया है. तथा उत्तर प्रदेश में व्यापक पैमाने पर चल रहे होमगार्ड वेतन घोटाले का खुलासा किया है.

एसएसपी ने बताया कि उनकी छवि को खराब करने की नीयत से ही कुछ लोगों ने उनके खिलाफ षड्यंत्र कर फर्जी अश्लील वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल किया है.