लखनऊ: शिवपाल सिंह यादव द्वारा नई पार्टी बनाए जाने को समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बेहद हल्के में लिया है. शिवपाल द्वारा समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का ऐलान किए जाने के बाद अखिलेश यादव ने प्रेस कांफ्रेस की. सपा कार्यालय में प्रेस कांफ्रेंस करते हुए उन्होंने कहा कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है. इसमें कुछ नया नहीं है. उन्होंने कहा कि चुनाव आ रहे हैं, इसलिए ऐसी और भी बातें सामने आएंगी. फिर भी सपा की साइकिल आगे बढ़ती रहेगी. Also Read - पूर्व केंद्रीय मंत्री व सपा के दिग्गज नेता बेनी प्रसाद वर्मा का लखनऊ में निधन

‘हमें ध्यान नहीं भटकाना है’
अखिलेश यादव ने कहा कि कोई कुछ भी करे, लेकिन हमें ध्यान नहीं भटकने देना है. उन्होंने कहा कि हमें एकजुट रहना चाहिए. हमें समाज और युवाओं के लिए काम करना है. उन्होंने कहा कि कोई कुछ भी करे सपा को इससे कोई फक नहीं पड़ता है. सपा को हर हाल में बीजेपी को 2019 में हराना है. इसलिए मुद्दों से भटकाने के प्रयास में नहीं फंसना है. सभी दल मिलकर बीजेपी को सबक सिखा रहे हैं. और इसमें आगे बढ़ना है. Also Read - अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर बोला हमला, कहा- यूपी में चरम पर है गुंडाराज और भ्रष्टाचार

शिवपाल सिंह यादव ने बनाया ‘समाजवादी सेक्युलर मोर्चा’, कहा- सपा से उपेक्षित सभी लोग जुड़ें Also Read - अखिलेश यादव का बड़ा ऐलान, बोले- यूपी में अगली सरकार बनी तो कराएंगे जातिवार जनगणना

कभी मुलायम के बाद पार्टी के सब कुछ थे शिवपाल
बता दें कि कभी समाजवादी पार्टी के सर्वेसर्वा रहे मुलायम सिंह यादव के छोटे भाई शिवपाल सिंह यादव ने नई पार्टी का ऐलान कर दिया है. उन्होंने कहा कि वह सपा से उपेक्षित सभी दलों को मोर्चा से जोड़ेंगे. हम सभी लोगों का सम्मान करेंगे. जिसने सम्मान नहीं किया, उसी के कारण सपा कमजोर हुई है. बता दें कि 2017 में विधानसभा चुनाव से पहले समाजवादी परिवार में सार्वजनिक तौर पर झगड़ा हुआ था. यह झगड़ा सम्मान और पार्टी में वर्चस्व को लेकर था. अखिलेश यादव पार्टी के अध्यक्ष बन गए थे. और शिवपाल को किनारे कर दिया था. मुलायम के बाद कभी समाजवादी पार्टी के सबसे बड़े नेता रहे शिवपाल सिंह यादव को पिछले डेढ़ साल से कोई बड़ा पद नहीं दिया रहा था. कुछ दिन पहले ही उन्होंने ये बात कही थी.