बागपत के एक निजी स्कूल के कक्षा 10 के छात्रों के लिए बायोलॉजी क्लास व्हाट्सएप ग्रुप (WhatsApp Group) अश्लील सामग्री से भरा पाया गया है. पुलिस ने कहा कि चैट ग्रुप बनाने वाले व्यक्ति ने पहचान का पता चलने से बचने के लिए एक अंतरराष्ट्रीय नंबर का इस्तेमाल किया है. पुलिस अधिकारी ने कहा, ‘लेकिन यह किसी अंदर के व्यक्ति का काम प्रतीत होता है, क्योंकि उनके पास स्कूल के बायोलॉजी शिक्षक की तस्वीर थी, जिसका उपयोग उन्होंने अपने डीपी में किया था, साथ ही साथ सभी का फोन नंबर भी उसके पास था.’ जांच यूपी पुलिस की साइबर सेल को सौंप दी गई है. Also Read - UP News: यूपी के सीतापुर में 15 साल की नाबालिग से गैंगरेप, घटना का VIDEO वायरल हुआ और फिर...

बड़ौत के पुलिस अधिकारी आलोक सिंह ने कहा, “कुछ अश्लील तस्वीरें और वीडियो व्हाट्सएप ग्रुप पर पोस्ट किए गए थे जिनका नाम ‘बायोलॉजी ग्रुप क्लास 10′ है. ग्रुप के डिस्प्ले तस्वीर में बायोलॉजी शिक्षक की तस्वीर लगी है, हालांकि उन्हें इस बारे में पता नहीं है. जांच का आदेश दिया गया है और इसे साइबर अपराध टीम द्वारा नियंत्रित किया जा रहा है.’ Also Read - पड़ोसी लड़की से ये कैसा प्‍यार, मर्डर कर जलाई लाश फिर खुद ही ट्रेन से कटकर कर ली खुदकुशी

स्कूल के प्रिंसिपल ने कहा, ‘हमें शिकायत मिली थी. व्हाट्सएप अकाउंट फर्जी था, और एक विदेशी नंबर के साथ बनाया गया था. हमने पुलिस को सूचित कर दिया है.’ कुछ अभिभावकों द्वारा साझा किए गए चैट स्क्रीनशॉट में दिखाया गया है कि नंबर का उपयोग करने वाले व्यक्ति ने बच्चों से कुछ चित्र भी मांगे हैं. हालांकि, यह स्पष्ट नहीं था कि वह किस तरह की तस्वीरें मांग रहा था. Also Read - UP News In Hindi: COVID-19 अस्पताल से फरार कैदी मामले में तीन सिपाही निलंबित