लखनऊ: उत्तर प्रदेश पुलिस ने आज बताया कि लश्कर ए तोएबा नाम के एक व्हाट्सअप समूह से दूसरे व्हाट्सअप समूह के सदस्यों को आमंत्रण मिला. यह समूह राजस्थान में स्कूली छात्र कथित रूप से बनाया था. आतंक निरोधी दस्ते के अधिकारी ने बताया कि व्हाट्सअप पर आमंत्रण भेजने वाला छात्र राजस्थान के भीलवाड़ा जिले का कक्षा नवमी का छात्र है. Also Read - हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के एनकाउंटर की खबरों के बाद सोशल मीडिया पर जमकर ट्रेंड हुए रोहित शेट्टी

अधिकारी ने बताया, उसके पिता आज उपलब्ध नहीं हो सके, इसलिए उससे पूछताछ नहीं की जा सकी. उससे कल पूछताछ की जायेगी. पुलिस ने बताया कि लश्कर ए तोएबा के नाम से समूह को आमंत्रण भेजने के बाद एक युवक की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज किया. Also Read - Encounter in Uttar Pradesh: STF को एक और बड़ी कामयाबी, विकास दुबे के बाद अब 50 हजार के इनामी बदमाश को किया ढेर

साइबर क्राइम प्रकोष्ठ (लखनऊ) नोडल आफिसर अभय शुक्ला ने बताया कि शिकायकर्ता एक व्हाट्सअप ग्रुप का सदस्य था. उसे वहां एक अन्य व्हाटसअप ग्रुप जिसका नाम लश्कर ए तोएबा था उससे आमंत्रण लिंक मिला. जब ग्रुप के सदस्यों ने इस आमंत्रण लिंक को खोला तब उस ग्रुप में कुछ नहीं मिला. Also Read - सर्वे में अधिकतर ने माना- विकास दुबे ने सरेंडर किया था, ऐसे न मरता तो शहीदों को न्याय मिलता, यूपी पुलिस की अक्षमता उजागर

इस आधार पर इस व्हाट्सअप आमंत्रण लिंक को भेजने वाले के खिलाफ भारतीय दंड संहिता और आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है. इस बारे में उप्र एटीएस को भी सूचित कर दिया गया है. पुलिस के अनुसार यह आमंत्रण कुछ दिन पहले मिला है. यूपी एटीएस के आईजी असीम अरूण ने बताया कि अभी तक यह साफ नही हो पाया है कि युवक वास्तव में लश्कर व्हाट्सअप समूह को ज्वाइन किया था या नहीं.

अरूण ने बताया, लेकिन उसने पुलिस को इस बात की जानकारी दी और जिस नंबर से यह आमंत्रण लिंक आया था उसकी जानकारी लग गयी है और यह पता चला है कि यह नंबर राजस्थान के भीलवाड़ा का है. उन्होंने कहा कि हम राजस्थान पुलिस के साथ मिलकर काम कर रहे है.