बुलंदशहरः जिले के सयाना क्षेत्र के लोंगा गांव में कथिततौर पर एक युवक से प्रेम करने के कारण एक महिला को पंचायत ने तालिबानी सजा सुनाई है. पंचायत में भरी सभा में महिला को पीटने का फरमान सुनाया. इस बर्बर घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है. घटना पर संज्ञान लेते हुए पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. बताया जा रहा है कि यह घटना 10 मार्च की है, लेकिन यह वीडियो गुरुवार को वायरल हुआ. इसके बाद पुलिस ने सात नामजद लोगों और 12 अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया. इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है. Also Read - साधुओं की हत्या: उद्धव ने की योगी से बात, बोले- पालघर घटना की तरह सांप्रदायिक रंग नहीं दिया जाना चाहिए

वीडियो में एक भीड़ के बीच महिला के दोनों हाथ एक पेड़ की टहनी से बांधकर उसे लटका दिया गया. इसके बाद एक आदमी करीब 25 वर्षीय महिला को बेरहमी से कोड़े मार रहा है. बताया जा रहा है कोड़े मारने वाला व्यक्ति महिला का पति है. वह चिल्ला-चिल्लाकर बोल रहा है कि ‘अब भाग कर दिखा’. पंचायत ने उसे कोड़े मारने का आदेश दिया था. महिला ने अपनी शिकायत में कहा है कि पीटने के बाद उसे घर के अंदर ले जाया गया, जहां कुछ लोगों ने उसके साथ छेड़छाड़ की. Also Read - बुलंदशहर में साधुओं की हत्या में बड़ा खुलासा, पुलिस ने बताया क्या है पूरा मामला

महिला के साथ छेड़छाड़
महिला ने अपनी शिकायत में कहा है कि वह अपने पड़ोसी युवक धर्मेंद्र लोधी के साथ गई थी लेकिन कुछ गांव वाले उसे वापस लेकर लाए और 10 मार्च को सुबह सात बजे से दो बजे तक पेड़ से उसके हाथ बांधकर लटका दिए. उसके बाद उसके पति सौदान सिंह ने उसे बेल्ट और डंडे से घंटों पिटाई की. कुछ लोगों ने इसका विरोध किया लेकिन उसे बचाने कोई सामने नहीं आया. उसके बाद गांव के कुछ युवकों ने उसे देह व्यापार करने वाली करार देकर उसके साथ छेड़छाड़ की. पूर्व प्रधान ने इस पूरी घटना का वीडियो बनाया. इसके बाद उसे मुंह खोलने पर जान से मारने की धमकी दी गई.

सयाना पुलिस थाने के प्रभारी अल्ताफ अंसारी के मुताबिक उन्हें बुधवार रात को वीडियो के जरिए जानकारी मिली. इसके बाद मामले की जांच की गई और गुरुवार सुबह तक सबकुछ साफ हो गया. इसके बाद मामला दर्ज किया गया. पुलिस ने पूर्व प्रधान शेर सिंह, महिला के पति सौदान सिंह और एक अन्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.