Yogi Adityanath: हिंदू युवा वाहिनी के संस्थापक योगी आदित्यनाथ सिर्फ 26 वर्ष की उम्र में बन गए थे सांसद

योगी आदित्यनाथ भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता हैं. राजनीतिक दृष्टि से उनकी कर्मभूमि गोरखपुर ही रही है. साल 1998 से 2017 तक वह लगातार 5 बार गोरखपुर से लोकसभा चुनाव जीतकर संसद पहुंचते रहे हैं. वह गोरखनाथ मठ के महंत हैं. योगी आदित्यनाथ हिंदू राष्ट्रवादी संगठन 'हिंदू युवा वाहिनी' के संस्थापक भी हैं. जानें योगी आदित्यनाथ के बारे में सब कुछ...

Updated: January 19, 2022 12:45 PM IST

By Digpal Singh

UP CM Yogi Adityanath (File photo: PTI)

Yogi Adityanath: योगी आदित्यनाथ भारतीय जनता पार्टी (BJP) के कद्दावर नेता हैं. राजनीतिक दृष्टि से उनकी कर्मभूमि गोरखपुर (Gorakhpur) ही रही है. साल 1998 से 2017 तक वह लगातार 5 बार गोरखपुर से लोकसभा चुनाव जीतकर संसद पहुंचते रहे हैं. वह उत्तर प्रदेश के मौजूदा मुख्यमंत्री (CM of Uttar Pradesh) हैं. साल 2017 में हुए विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election) में वह भाजपा के स्टार प्रचारक थे. भाजपा को प्रचंड बहुमत मिलने के बाद 19 मार्च 2017 को उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. मुख्यमंत्री के तौर पर वह राजधानी लखनऊ के 5 कालीदास मार्ग पर रहते हैं. 2017 में उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने के बाद उन्हें लोकसभा सीट छोड़नी पड़ी, लेकिन उन्होंने विधानसभा चुनाव नहीं लड़ा, बल्कि वह मुख्यमंत्री पद पर बने रहने के लिए विधान परिषद सदस्य (MLC) बने. वह हिंदुओं के प्रमुख धार्मिक स्थलों में से एक गोरखनाथ मठ के महंत हैं. सितंबर 2014 में उनके आध्यात्मिक पिता महंत अवैद्यनाथ (Mahant Avaidhyanath) के निधन के बाद उन्हें गोरखनाथ मठ का महंत बनाया गया. योगी आदित्यनाथ हिंदू राष्ट्रवादी संगठन ‘हिंदू युवा वाहिनी’ के संस्थापक भी हैं.

Also Read:

Ajay Singh Bisht to Yogi Life Story

योगी आदित्यानाथ का बपचन का नाम अजय मोहन बिष्ट (Ajay Mohan Bisht) है. गोरखपुर मठ आने के बाद उनका नाम योगी आदित्यनाथ पड़ा. उनका जन्म 5 जून 1972 को उत्तराखंड के पौड़ी (Pauri) जिले में स्थित पंचूर गांव में हुआ था. उस समय यह उत्तर प्रदेश का हिस्सा था. अलग उत्तराखंड राज्य 9 नवंबर 2000 (Uttarakhand Foundation Day) को बना है, उससे पहले यह हिस्सा उत्तर प्रदेश का ही भाग था. उनके पिता का नाम आनंद सिंह बिष्ट (Yogi Adityanath’s Father Anand Singh Bisht) था जो एक फॉरेस्ट रेंजर थे. परिवार में चार भाई और तीन बहनों में वह दूसरे नंबर की संतान हैं.

योगी आदित्यनाथ की प्रारंभिक शिक्षा और राजनीतिक करियर (Education and Early Career)

युवा अजय मोहन बिष्ट ने 1989 में ऋषिकेश (Rishkesh) के भारत मंदिर इंटर कॉलेज से 12वीं पास की और हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय, श्रीनगर, पौड़ी से बी.एससी की डिग्री ली. 1990 के दशक में उन्होंने अयोध्या राम मंदिर आंदोलन (Ram Mandir Andolan) में शामिल होने के लिए घर छोड़ दिया. बाद में वह गोरखनाथ मठ के प्रमुख महंद अवैद्यनाथ के शिष्य बन गए. नाथ परंपरा के अनुसार उन्होंने संन्यासी की दीक्षा ली और उन्हें योगी आदित्यनाथ नाम दिया गया. योगी आदित्यनाथ सिर्फ 26 वर्ष की उम्र में ही सांसद चुने गए थे. 12वीं लोकसभा के लिए वह सबसे कम उम्र के सांसद थे. वह गोरखपुर से 1998, 1999, 2004, 2009 और 2014 तक लगातार पांच पार सांसद चुने गए.

योगी आदित्यनाथ की कुल आमदनी (Yogi Adityanath Net Worth)

चुनाव आयोग (Election Commission) में उनके हलफनामे के अनुसार साल 2016-17 में उनकी कुल आमदनी 8 लाख 40 हजार 998 रुपये थे. उन्होंने इसी राशि की इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) फाइल की थी. उस समय उनकी कुल संपत्ति 95 लाख, 98 हजार 53 रुपये आंकी गई थी. इन के अनुसार मुख्यमंत्री के तौर पर योगी आदित्यनाथ को 3 लाख 65 हजार रुपये की मासिक सैलरी (Yogi Adityanath’s Salary) और अन्य भत्ते मिलते हैं.

योगी आदित्यनाथ के खिलाफ दर्ज केस (Cases Registered on Yogi Adityanath)

पिछले चुनाव में दिए गए हलफनामे के अनुसार योगी आदित्यनाथ पर गोरखपुर में धारा 147, 295, 297, 436, 506 के तहत केस दर्ज हैं. महाराजगंज और सिद्धार्थनगर जिले में भी योगी आदित्यानाथ के खिलाफ मामले दर्ज हैं.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें स्पेशल की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date: January 10, 2022 3:52 PM IST

Updated Date: January 19, 2022 12:45 PM IST