लखनऊ: यूपी विधानसभा चुनावों से पहले यूपी में चुनावी तैयारियां शुरू हो चुकी है. ऐसे में भाजपा में संगठन और कार्यकर्ताओं की नाराजगी दूर करने के लिए भाजपा आलाकमान सक्रिय मोड में है. ऐसे में संगठन में नियुक्ति और खाली पदों को भरने के लिए अब योगी सरकार ने अहम फैसला लिया है. योगी सरकार राज्य में अब भाजपा कार्यकर्ताओं पर दर्ज सभी फर्जी अपराधिक मुकदमें वापस लेगी. राज्य में सपा और बसपा सरकार के दौरान जिन भी भाजपा कार्यकर्ताओँ के खिलाफ मुकदमें दर्ज किए गए थे, उन्हें अब वापस लेने की प्रक्रिया को शुरू किया जाएगा.Also Read - यूपी: 33 साल से बंद पड़े 40 पैरा मेडिकल सेंटर फिर खुलेंगे, योगी सरकार ने तैयार की योजना

बता दें कि योगी सरकार द्वारा राज्य में सरकार के बनने के बाद लगभग 5 हजार से अधिक मुकदमे वापस लिए जा चुके हैं. इनमें डिप्टी सीएम और मंत्रियों के खिलाफ भी मुकदमें शामिल हैं. अब राज्य में 5 जुलाई को भाजपा कार्यकर्ताओं पर दर्ज मुकदमों के वापस लिया जाएगी. पार्टी हमेशा से बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं को मजबूत करने में रही है, ऐसे में पार्टी का मानना है कि अगर बूथ स्तर का कार्यकर्ता नाराज होगा तो पार्टी को मनमुताबिक सफलता हासिल नहीं हो पाएगी. Also Read - इस्तीफे के बाद बोले आरसीपी सिंह- सीधा आदमी हूं और सीधा चलता हूं, भाजपा में शामिल होने की अफवाह पर दिया ये जवाब

बता दें कि पंचायत चुनाव में पार्टी का प्रदर्शन निराश करने वाला था. ऐसे में पार्टी को विधानसभा चुनाव से पहले संकेत मिल चुके हैं और पार्टी आंतरिक कलह को सुलझाने में जुट चुकी है. पार्टी में असंतोष थामने नेताओं और कार्यकर्ताओं की नाराजगी दूर करने पर हाल ही में पार्टी की सांगठनिक बैठक में चर्चा की गई है. Also Read - पीएम मोदी ने वाराणसी में किया अक्षय पात्र का उद्घाटन, एक लाख छात्रों का भोजन तैयार करने की क्षमता