लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर एक लाख बेड तैयार करने का लक्ष्य हासिल कर लिया है. इतनी बड़ी संख्या में बेड तैयार करने वाला वह सम्भवत: पहला राज्य है. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव अमित मोहन प्रसाद ने यहां बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक लाख बेड तैयार करने का लक्ष्य दिया था, जिसे हमने आज प्राप्त कर लिया है. अगर लोग बहुत बड़ी संख्या में संक्रमित होते हैं, जिसकी आशंका हालाँकि कम ही है, तो भी हमने एक लाख 1236 बेड की व्यवस्था एल1, एल2, एल3 अस्पतालों में कर ली है. Also Read - कलाकार है शाहरुख खान की पत्नी गौरी, विश्वास नहीं होता तो देखिए ये वीडियो

अमित मोहन प्रसाद ने गुणवत्ता पर जोर देने की चर्चा करते हुए कहा कि बेड के लिये मेडिकल टीम, दवाएं, इंफ्रारेड थर्मामीटर इत्यादि की बेहतरीन व्यवस्था हो, इस पर ध्यान दिया जा रहा है. प्रसाद ने बताया कि पिछले 24 घंटों में कोरोना संक्रमण के 262 नये मामले सामने आये हैं और राज्य में इस वक्त कुल 2901 मरीज उपचार से गुजर रहे हैं, उधर, 4709 लोग पूरी तरह ठीक हो चुके हैं और अब तक 213 लोगों की मौत हुई है. इस वक्त पृथक वार्ड में 2938 लोगों को रखकर उनका इलाज किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि शनिवार को राज्य में 9976 सैम्पल जांचे गये. अब हमारा लक्ष्य 15 जून तक इसे बढ़ाकर 15 हजार तक ले जाने का है. अब तक 77 लाख 68 हजार 346 घरों का सर्वेक्षण किया गया है. Also Read - चार महीने बाद अबु धाबी से मुंबई लौटीं मौनी रॉय, फैंस बोले- 'मास्क नाक पर डालो न...'

प्रमुख सचिव ने बताया कि अब तक 11 लाख 28 हजार 804 प्रवासी कामगारों की ट्रैकिंग की गयी, इनमें से 1027 लोगों में कोरोना का कोई न कोई लक्षण पाया गया है. इनकी टेस्टिंग और इलाज का काम किया जा रहा है. उन्होंने बताया कि दूसरे चरण में एक मई से 10 मई तक जो प्रवासी कामगार यहां आये थे, उनकी पृथक-वास अवधि आज पूरी हो चुकी है. Also Read - कर्नाटक में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या 40 हजार पार, 73 और मरीजों की मौत