लखनऊः प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को विधानसभा में कहा कि मैं हिन्दू हूं और ईद नहीं मनाता. राज्यपाल के अभिभाषण पर संबोधन के दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने यह टिप्पणी की. इससे पहले मथुरा में होली मनाने पहुंचे सीएम से एक पत्रकार ने सवाल किया था कि ईद कहां मनाएंगे? योगी ने कहा था कि वह हिन्दू हैं और ईद नहीं मनाते. हालांकि सीएम ने कहा कि शांतिपूर्वक ईद मनाने के लिए सरकार सदैव काम करती रहेगी. सीएम ने शिक्षा व्यवस्था को ले कर भी विपक्ष पर हमला बोला और कहा कि आप ग से गधा पढ़ाते थे हम ग से गणेश पढ़ाने जा रहे हैं. रामगोविंद चौधरी से कहा था कि शिक्षा मंत्री होते हुए आपने शिक्षा मित्रों के साथ विश्वासघात किया. आप लोगों ने युवाओं के साथ धोखा किया है, भेदभाव किया है. Also Read - बिहार: CM योगी बोले- PM मोदी ने राम मंदिर की नींव रखी, राहुल गांधी पाकिस्तान की तारीफ़ करते हैं

Also Read - बिहार में सीएम योगी ने कहा- JNU में अब 'भारत तेरे टुकड़े होंगे' के नारे नहीं लग सकते हैं

सीएम ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर भी कटाक्ष किया और कहा कि मैं हिन्दू हूं और मैं ईद नहीं मनाता. मैं शरीर पर जनेऊ धारण कर बाहर जाकर सर पर टोपी डालकर कहीं मत्था नहीं टेकता. सीएम ने कहा कि जुमा साल में 52 दिन आता है और होली एक दिन. मुस्लिम धर्म गुरुओं ने जुमे की नमाज़ का टाइम बदला और 2 घंटे का समय बढ़ाया. उन्होंने इसके लिए मुस्लिम धर्मगुरुओं को धन्यवाद भी दिया. सीएम ने कहा कि पिछले11 महीनों में एक भी सांप्रदायिक दंगा नहीं हुआ. उन्होंने उम्मीद जताई कि आगे भी कोई दंगा नहीं होगा. Also Read - सात महीने बाद सिर्फ एक दिन के लिए खुला 'बांके बिहारी मंदिर', फिर से बंद किए गए कपाट, ये है बड़ी वजह

यह भी पढ़ेंः योगी के मंत्री के बिगड़े बोल, मुलायम को रावण और मायावती को शूर्पणखा बताया

सपा ने समाज को बांटा

गौरतलब है कि मंगलवार को राज्यपाल के अभिभाषण के बाद नेता विपक्ष राम गोविंद चौधरी ने लगभग डेढ़ घंटे तक सरकार पर जमकर हमला बोला था. इसके बाद योगी आदित्यनाथ ने सपा को आड़े हाथों लेते हुए जमकर हमला किया. सीएम ने कहा कि विपक्ष के नेता तथ्यों के साथ नहीं बोल रहे हैं. योगी ने कहा कि समाजवादी पार्टी ने समाज को बांटने का काम किया है.

‘लोकतंत्र लोकलाज से चलता है’

सीएम ने राज्यपाल पर कागज फेंकने की घटना का भी जिक्र किया और कहा कि इस तरह का आचरण शोभनीय नहीं है. लोकतंत्र लोकलाज से चलता है. यह जबरन नहीं चल सकता. विपक्ष के सवालों का जवाब देते हुए सीएम ने राम गोविंद पर तंज कसते हुए कहा कि जब नेता प्रतिपक्ष बोल रहे थे तो मुझे लगा कि ऐसा व्यवहार कर रहे कि कहीं फिर बेहोश ना हो जाएं. एक झूठ सौ बार बोलने से सत्य नहीं हो जाता.

यह भी पढ़ेंः यूपी उपचुनावः फूलपुर लोकसभा सीट पर तीसरी बार हो रहा है उप चुनाव

कोई साबित नहीं कर सकता फर्जी एनकाउंटर

सीएम योगी ने यूपी इवेस्ट समिट को सरकार की उपलब्धि बताते हुए कहा कि बीजेपी की सरकार आने के बाद प्रदेश का माहौल बदला है. कंपनियां यहां इनवेस्ट करना चाहती हैं. फर्जी एनकाउंटर के मुद्दे पर भी सीएम ने विपक्ष को घेरा. यूपीकोका का विरोध करने पर कहा कि अपराधियों के प्रति आप सबकी सहानुभुति देखकर मैं हैरान हूं. सीएम ने कहा कि कोई साबित नहीं कर सकता कि यूपी में फर्जी एनकाउंटर हुए हैं. यदि कोई पुलिस पर गोली चलाएगा तो पुलिस उसका जवाब जरूर देगी.