लखनऊ: योगी सरकार ने लोहिया ट्रस्ट बिल्डिंग खाली कराकर समाजवादी मुलायम परिवार को बड़ा झटका दिया है. सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव इस ट्रस्ट के अध्यक्ष और शिवपाल यादव सचिव हैं. इसके अलावा यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव समेत कई बड़े नेता ट्रस्ट के सदस्य हैं. लोहिया ट्रस्ट की यह बिल्डिंग शिवपाल यादव की पार्टी के कब्जे में थी और पिछले कुछ महीने से बाजार दर पर इसका किराया भी वसूला जा रहा था. राज्य संपत्ति विभाग ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर यह कार्रवाई की है.

सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को ऐसे सभी सरकारी बंगलों को खाली कराने का आदेश दिया था, जो सरकारी खर्चे पर चल रहे थे. इससे पहले भी कई सारे बंगले खाली किए गए थे और अब समाजवादी पार्टी का लोहिया ट्रस्ट भी खाली कराया गया है. इससे मुलायम परिवार को बड़ा झटका लगा है. लोहिया ट्रस्ट ने बंगला खाली करने के लिए कुछ महीने पहले ही वक्त मांगा था. आवंटन रद्द होने के बाद से लोहिया ट्रस्ट इसके लिए लगातार 70 हजार रुपये किराया दे रहा था. यह किराया बाजार दर से वसूला जा रहा था. ट्रस्ट को अब बंगला खाली करना पड़ा है.

यूपी के CM, सभी मंत्री आयकर का स्वयं करेंगे भुगतान, योगी सरकार ने तोड़ी 40 साल पुरानी परंपरा

सपा मुखिया अखिलेश यादव को छोड़ना पड़ा था अपना बंगला
ज्ञात हो कि सुप्रीम कोर्ट ने हाल ही में पूर्व मुख्यमंत्रियों को सरकारी आवास छोड़ने करने का आदेश दिया था. इसके बाद सपा मुखिया अखिलेश यादव को अपना बंगला छोड़ना पड़ा था.