लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार अब गरीबों के लिए मेडिसिन एटीएम लगाने पर कार्य करने जा रही है. इससे जिन इलाकों में मेडिकल स्टोरों की सुविधा नहीं है, वहां पर यह काफी उपयोगी साबित होगा. प्रदेश के मुख्य सचिव आर.के. तिवारी ने बताया कि इसके लिए ऐसे ग्रामीण इलाकों का चयन किया जा रहा है, जहां पर दवा की दुकान नही है. वहां एटीएम के माध्यम से दवा उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया है. Also Read - CM Yogi ने पूछा, कल हाथरस में जो दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई, क्या समाजवादी पार्टी का उस अपराधी से कोई संबंध नहीं है?

उन्होंने बताया कि अभी इस पर रूपरेखा तैयार की जा रही है. अभी इसके लिए अध्ययन किया जा रहा है. इसके बाद यह तय होगा कि कितने एटीएम कहां-कहां पर लगाए जाएं. मुख्य सचिव ने बताया कि आरोग्य मेलों में डॉक्टर सामान्य पर्चा नहीं, बल्कि ‘डिजिटल प्रिसक्रिप्शन’ लिखेंगे, जिसे एटीएम पढ़ सकेगा और अपने आप मरीज को दवा मिल जाएगी. उन्होंने बताया कि अभी इस विचार पर कदम आगे बढ़ाए गए हैं. प्रदेश में गरीब मरीजों को निशुल्क इलाज मुहैया कराने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आरोग्य मेले शुरू किए हैं. अब स्वास्थ्य लाभ की इस योजना को व्यापक रूप देने के लिए मेडिसिन एटीएम लगाने का निर्णय लिया गया है. Also Read - Hathras Murder Case: CM Yogi ने हत्‍या के सभी आरोपियों पर NSA लगाने के निर्देश दिए

योगी सरकार ने इस बार बजट में स्वास्थ्य सेवाओं पर काफी फोकस किया है. वहीं, खासकर गांव और पिछड़े इलाकों में निशुल्क स्वास्थ्य सुविधाएं पहुंचाने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रत्येक रविवार को मुख्यमंत्री आरोग्य मेला आयोजित करना शुरू किया है. Also Read - Petrol-Diesel की बढ़ती कीमतों पर Mayawati- Akhilesh Yadav ने केंद्र और यूपी की योगी सरकार पर हमला बोला