अमेठी/लखनऊ: उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता एवं राज्य के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पर कटाक्ष करते हुए कहा कि जिसके माता—पिता की शादी चर्च में हुई हो, वह हिंदुत्व की बात करते हुए मंदिरों का भ्रमण करे, यह समझ से परे है.

वाराणसी में हो सकता है नरेंद्र मोदी Vs प्रियंका गांधी, इस एक जवाब से शुरू हुई चर्चा

स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह गौरीगंज में भारतीय जनता युवा मोर्चा के ‘विजय लक्ष्य सम्मेलन’ को सम्बोधित कर रहे थे. उन्होंने प्रियंका गांधी का जिक्र करते हुए कहा कि जिसका पति, मां और भाई जमानत पर हो, वो भी ‘चौकीदार चोर है’ का नारा लगा रही है. उन्होंने यह भी कहा कि जिसके माता—पिता की शादी चर्च में हुई हो, वह भी हिंदुत्व की बात करे और मंदिरों का भ्रमण करे, यह समझ से परे है. सिंह ने कहा कि हाल में प्रियंका ने वाराणसी में लाल बहादुर शास्त्री की प्रतिमा पर अपने गले की माला निकाल कर डाल दी थी. इससे उनके संस्कारों की कमी जाहिर होती है.

रायबरेली में प्रियंका के खिलाफ पोस्टर वॉर, ‘जब आई संकट की घड़ी, कबो न महतारी बिटिया दिखाई पड़ी’

युवाओं से की अपील, कांग्रेस के ‘युवराज’ को यहां से करो विदा
उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष और क्षेत्रीय सांसद राहुल गांधी को अमेठी के लोग पिछले 15 सालों से कैसे ‘झेल’ रहे हैं, यह मेरी समझ में नहीं आ रहा है. राहुल अपनी सांसद निधि के 25 करोड़ में से मात्र नौ करोड़ रुपये ही खर्च कर पाये हैं. भाजपा प्रत्याशी स्मृति ईरानी के अमेठी से जुड़ने के बाद यहां के विकास को गति मिली. मंत्री ने युवाओं से अपील की कि आप लोग एकजुट होकर कांग्रेस के ‘युवराज’ को यहां से विदा करो और अमेठी से स्मृति ईरानी को जिता कर संसद भेजो. अमेठी और रायबरेली विकास की दौड़ में बहुत पिछड़ गये हैं. देश की बहुत शक्तिशाली महिला यानी सोनिया गांधी रायबरेली से सांसद थीं लेकिन उन्होंने वहां के विकास के विषय में ध्यान नहीं दिया.

लोकसभा चुनाव 2019: BJP ने कांग्रेस के गढ़ अमेठी पर गड़ाईं आंखें, राहुल के लिए मुश्किल होगी दिल्‍ली की डगर

राम मंदिर का निर्माण चुनावी मुद्दा नहीं बल्कि आस्था का विषय
सिंह ने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण भाजपा के लिए हमेशा से कोई चुनावी मुद्दा नहीं बल्कि आस्था का विषय रहा है. यह आज भी है और आगे भी रहेगा. उन्होंने कहा कि हमें पूरा भरोसा है कि कांग्रेस के तमाम अड़ंगों के बावजूद अदालत के फैसले के बाद अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनेगा. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के आज के अयोध्या दौरे पर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रियंका उसी कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव है जिसके लोगों ने रामसेतु के अस्तित्व पर सवाल उठाए थे और अयोध्या में भगवान राम के जन्म को काल्पनिक कहा था. प्रियंका को इस पर देश को जवाब देना चाहिए. (इनपुट भाषा)

NCP-BSP चीफ शरद पवार व मायावती का चुनाव ना लड़ना NDA की जीत का संकेत: शिवसेना