लखनऊ: मुगलसराय रेलवे स्टेशन का नाम दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर रखे जाने के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने केंद्र से बरेली, कानपुर और आगरा हवाई अड्डों का नाम भी बदलने का प्रस्ताव किया है. Also Read - 9 लाख प्रवासियों को रोजगार देगी उत्तर प्रदेश सरकार, सीएम आदित्यनाथ ने निवेशकों से की खास अपील

Also Read - Locust Latest Update: उत्तर प्रदेश के इन दस जिलों में टिड्डी दल के पहुंचने की आशंका, सरकार ने जारी किया हाई अलर्ट का नोटिस

एक आधिकारिक प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि राज्य नागरिक उड्डयन विभाग ने एक प्रस्ताव में बरेली हवाई अड्डे का नाम ‘नाथ नगरी’ के नाम पर करने को कहा है जो इस शहर का पुराना नाम बताया जाता है. नाथ संप्रदाय से ताल्लुक रखने वाले सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर में भारतीय वायुसेना के हवाई अड्डे के सिविल टर्मिनल के नाम में बदलाव किया था. इसका नाम महायोगी गोरखनाथ के नाम पर रखा गया था जो नाथ पंथ के संस्थापक थे. मुख्यमंत्री नाथ संप्रदाय की आस्था के सबसे बड़े केंद्र गोरक्षनाथ पीठ के महंत भी हैं. Also Read - लॉकडाउन: जिस भीख मांगने वाली को रोज देता था खाना, उसी को दिल दे बैठा युवक, रचाई शादी

मुगलसराय का नाम बदला, अब दीनदयाल उपाध्याय (डीडीयू) रेलवे स्टेशन नया नाम

उड्डयन मंत्रालय के अधिकारियों के साथ जल्द ही बैठक होने की संभावना

प्रदेश के नागरिक उड्डयन मंत्री नंद गोपाल नंदी ने कहा कि इन तीनों हवाई अड्डों का नाम बदले जाने की अर्से पुरानी प्रतीक्षा है. उन्होंने कहा कि हमने इन हवाई अड्डों के नाम बदलने के लिए केंद्र सरकार से आग्रह किया है. इस बारे में नागर उड्डयन मंत्रालय के अधिकारियों के साथ जल्द ही बैठक होने की संभावना है.

आगरा हवाई अड्डे का नाम दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर रखने का प्रस्ताव

कानपुर के चकेरी हवाई अड्डे का नाम स्वतंत्रता संग्राम सेनानी गणेश शंकर विद्यार्थी के नाम पर रखे जाने का प्रस्ताव है. प्रस्ताव में कहा गया है कि कानपुर को पहले कान्हापुर के नाम से जाना जाता था और सचेंडी राजा हिंदू सिंह ने इसकी स्थापना की थी. आगरा हवाई अड्डे का नाम दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर रखने का प्रस्ताव किया गया है.