ई-सिगरेट पर बात करते हुए डॉ. दीपक ने कहा कि यह एक तरह के खतरे से बचने के लिए दूसरे खतरे का उपयोग करना समझदारी नहीं हैं. लोगों को सिर्फ तंबाकू के धुएं से परेशानी नहीं होती बल्कि तंबाकू के अंदर 2000 से ज्यादा ऐसे तत्व होते हैं जो हमारी सेहत को नुकसान पहुंचाते है. उन्होंने बताया कि यदि आपको अस्थमा हैं तो आपको ऐसी चीजों से दूर रहना पड़ेगा जिससे आपको एलर्जी है. वहीं COPD के मामले में जरूरी है कि लोग धुएं के सीधे संपर्क में ना आएं. वहीं डॉ. ने बताया कि यदि आर सांस संबंधी योगा करते हैं तो यह काफी अच्छा साबित होगा. वहीं डॉ. ने बताया कि COPD कोई भी दवाएं अभी भारत में नहीं हैं लेकिन लोग कुछ ऐसी दवाएं ले सकते हैं जो उन्हें कुछ समय तक आराम दे सकती हैं.