Pitru Paksha 2021 : 15 दिनों तक चलने वाला पितृ पक्ष शुरू हो चुका है. यह 20 सितंबर से 6 अक्टूबर तक चलेगा. पितृ पक्ष में पितरों को याद करते हुए उनकी आत्मा की शांति के लिए उन्हें तर्पण, श्राद्ध कर्म (Do’s and Dont’s of Pitru Paksha) और दान किया जाता है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन पितर धरती पर आते हैं और ऐसे में अगर उनके श्राद्ध कर्म में कोई भी कमी रह जाती है तो वे नाराज हो कर लौट जाते हैं जिससे परिणामस्वरूप हमें कई परेशानियों का सामना कर पड़ सकता है. इसलिए पितर को खुश रखना बहुत ज़रूरी है क्योंकि इससे हमें सुख समृद्धि की (Pitru Paksha 2021) प्राप्ति होती है. हमे पितृ पक्ष के नियमों का ख़ास खयाल रखना चहिए. आज इस वीडियो में हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसे नियम जिनका पितृ पक्ष में पालन करना बेहद ज़रूरी है. आइए जानते हैं वे ज़रूरी नियम.Also Read - वास्तु टिप्स: घर में यहां रखें पैसे, दिन दोगुनी रात चौगुनी होगी वृद्धि | देखें वीडियो

(नोट: दी गई सूचनाएं सामान्य जानकारी और मान्यताओं पर आधारित हैं.) Also Read - Putrada Ekadashi 2022: जानें कब है पौष पुत्रदा एकादशी, क्‍या है महत्‍व और पूजन विधि

Also Read - Pitru Paksha 2021: सपनों में पितृगणों का इस तरह नजर आना माना जाता है काफी अशुभ, ऐसा होने पर तुरंत करें ये काम