Video: Multi Role Helicopter MI-17V-5 क्यों है खास? 60 से अधिक देशों में service में

MI-17 V5 MI 8 series का हेलीकॉप्टर है। इसका सबसे पहले उपयोग में सोवियत यूनियन में 1977 में किया गया था. तब से अब तक यह भारत और रूस सहित 60 से अधिक देशों में सक्रिय रुप से अपनी service में है. 

Advertisement

Advertising
Advertising

From past 45 years Multi role helicopter MI-17V-5 is in service: भारत में VVIP ट्रिप के अलावा यह अपनी क्षमता Search & rescue operation से लेकर fire-fighting, ambulance, and corporate purposes में दिखा चुका है. दुर्गम स्थानों पर फंसे लोगों को भी airlift करने में इसकी भूमिका महत्वपूर्ण रही है. MI 17-V5 आसमान से जमीन पर हमले कर सकता है.

MI-17 V 5 हेलीकॉप्टर किसी भी मौसम में उड़ान भरने की क्षमता किसी भी लोकेशन पर पहुंचने की क्षमता वाला एक बहुउद्देशीय हेलीकॉप्टर माना जाता है सोवियत यूनियन में बना यह हेलीकॉप्टर पहली बार 1975 में उड़ान भारी थी.

यह भी पढ़ें

अन्य खबरें

MI-17 V5 ट्रांसपोर्ट फैसिलिटी से लेकर दुश्मन पर हमला करने के लिए इस्तेमाल करने में भी सक्षम है लेकिन भारत में इसका इस्तेमाल ज्यादातर वीवीआइपी ट्रिप के लिए किया जाता है.

Advertisement

PM मोदी अभी हाल ही में लद्दाख दौरे पर इसी हेलिकाप्टर से गए थे. लद्दाख ही नहीं बल्कि northeast India के भी दुर्गम इलाकों में इस multi rol हेलिकॉप्टर का इस्तेमाल किया जाता है.

Mi-17V-5 medium-lifter Mi-8 airframe पर डिजाइन किया गया है. इसके बाहर स्लिंग लगा हुआ है जिससे इसके बाहर भी समान ले जाया जा सकता है.

VVIP ट्रिप के अलावा यह अपनी क्षमता Search & rescue operation से लेकर fire-fighting, ambulance, and corporate purposes में use किया जाता रहा है. कहीं फंसे लोगों के को airlift करने में भी इसकी भूमिका महत्वपूर्ण रही है. MI 17-V5 आसमान से जमीन पर हमले कर सकता है.

MI-17 V5 MI 8 series का हेलीकॉप्टर है. इसका सबसे पहले उपयोग में सोवियत यूनियन में 1977 में किया गया था. तब से अब तक यह भारत और रूस सहित 60 से अधिक देशों में सक्रिय रुप से अपनी service में है.

अपनी विशेषताओं के कारण लगभग 45 साल पहले इसने सेवाएं देनी शुरू की थी और आज भी इसकी डिमांड कम नहीं हुई है.

MI 17-V5 की अब तक 12000 unit निर्मित की जा चुकी हैं.

भारत में Mi-17V5 को किसी महिला पायलट ने पहली बार उड़ाया था 27 May 2019 को. वो पायलट थीं flight lieutenant Parul Bhardwaj.

ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज अपडेट के लिए हमें फेसबुक पर लाइक करें या ट्विटर पर फॉलो करें. India.Com पर विस्तार से पढ़ें मनोरंजन की और अन्य ताजा-तरीन खबरें

Published Date:December 8, 2021 9:33 PM IST

Updated Date:December 8, 2021 9:33 PM IST

Topics