Tips to protect children from coronavirus in hindi: देश के अलग-अलग हिस्सों में कोरोनावायरस का प्रसार बहुत तेजी से बढ़ रहा है. तेजी से बढ़ते कोरोना के मामलों के बीच इस बार बच्चों को भी उतना ही खतरा है, जितना बूढ़ों और बड़ों को है. बता दें कि भारत की कुल जनसख्या में 35 फीसदी आबादी 18 साल से नीचे के बच्चों की है. आकंड़ों की मानें तो बीते साल करीब 11 फीसदी बच्चे कोरोना का शिकार हुए थे लेकिन इस बार आंकड़ा हमारी सोच से भी परे हैं. Video में जानिए बच्चों को कोरोना से बचाने के आसान टिप्स और लक्षण.Also Read - हफ्ते में सिर्फ 3 दिन जाना होगा ऑफिस, 8 फीसदी बढ़ेगी सैलरी; जानिए - कौन सी कंपनी दे रही है यह सुविधा

Kids Symptoms Covid 19: बच्चों में दिखाई देते हैं कोरोना के ये लक्षण Also Read - भारत में Omicron के सब वेरिएंट BA.5 के एक और मरीज की पुष्टि, दक्षिण अफ्रीका से वडोदरा आया था शख्स

कोरोना के नए वेरियंट के कारण बच्चों को भी सांस लेने में दिक्कत, बुखार न उतरना, दस्त लगना 3-उल्टी और पेट में दर्द, बच्चे के हाथ-पैर में सूजन, मासपेशियों में दर्द, सूखी खांसी, शरीर और पैर में लाल चकत्ते पड़ना, फंटे-फंटे होंठ, बच्चे में चिड़चिड़ापन, और ज्यादा नींद आना जैसी समस्या हो रही है. Also Read - सऊदी अरब में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामले, भारत समेत इन देशों में यात्रा करने पर लगा प्रतिबंध

बच्चों को होती है स्पेशल केयर की जरूरत…

बच्चे को हुआ कोरोना तो माता-पिता इन 8 जरूरी बातों का रखें विशेष ख्याल

  1. बच्चों में असामान्य लक्षण दिखाई देने पर तुरंत डॉक्टर की सलाह लें.
  2. बच्चे को अपनी तरफ से कोई दवाई न दें.
  3. डॉक्टर की सलाह पर बच्चों को विटामिन डी और जिंक की दवा दें, ये दोनों दवाएं कोविड से लड़ने में कारगर है.
  4. खुद से बच्चे का सिटी स्केन न कराएं.
  5. बच्चे की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिन आने पर उसे अकेला न छोड़े.
  6. बच्चे के साथ रहने वाले व्यक्ति को कोविड प्रोटोकॉल का पालन करना चाहिए और सभी जरूरी नियम अपनाने चाहिए.
  7. बच्चे से बार-बार हाथ धोने को कहें.
  8. बच्चे का हौंसला बढ़ाएं.

एक्सपर्ट्स के अनुसार, इस बार का कोविड खासकर 11 साल से कम और 17 साल के बच्चों को ज्यादा इफेक्ट कर रहा है। इसलिए बेहतर होगा अगर आप बच्चों को घर में रखें जरूरी बातों का रखें और विशेष ख्याल.