What is Active And Passive Investing/ क्‍या हैं एक्टिव और पैसिव निवेश के बीच का अंतर?: एक्टिव और पैसिव निवेश पर बहस करना कोई नई बात नहीं है. म्‍यूचुअल फंड में दो बड़ी कैटेगरी है. इनमें से एक कैटेगरी का नाम एक्टिव फंड्स (Active Funds) और दूसरे का नाम पैसिव फंड्स (Passive Funds) है.  पैसिव फंड में मार्केट इंडेक्‍स ट्रैक करने के बाद ही निवेश से जुड़े फैसले लिए जाते हैं. जबकि एक्टिव निवेश में, यह काम मैनेजर का देखना होता है कि वे किस तरह से निवेश पर मुनाफा कमाएं.  इसके अंतर (Difference between active and passive investing) को जानने के लिए कि दोनों में से क्‍या बेहतर है, मोहित गैंग, संस्थापक, मनीफ्रंट, आपको इसी बारे में पूरी जानकारी देते हैं, जो आपके निर्णय को आसान बना देगा. अभी वीडियो देखें.Also Read - Budget 2022 Highlights: साल 2023 में RBI करेगी Digital Currency को लॉन्च, इनकम टैक्स स्लैब में नहीं होगा बदलाव; Watch

डिस्क्लैमर : इस वीडियो में व्यक्त विचार व्यक्तिगत हैं न कि फर्म के विचार। यह वीडियो केवल शैक्षिक उद्देश्य के लिए है. Also Read - Budget 2022: क्या है Education Industry की वित्त मंत्री से उम्मीदें? जानिए Expert द्वारा, Watch

Also Read - Weekly Stock Market Outlook, 1st To 7th November: जानिए इस धनतेरस कहां इन्वेस्ट करने से मिलेगा लाभ, फॉलो करें यह इन्वेस्टमेंट टिप्स | वीडियो देखें