Eating Disorders in Women and Men:  ईटिंग डिसॉर्डर या भोजन विकार एक तरह की गंभीर मानसिक बीमारी है जिसमे इंसान कभी जरूरत से ज़्यादा तो कभी ज़रूरत से कम खाने लग जाता है. कैलोरीज़ घटाने (What is eating disorder)के लिए लोग हानिकारक तरीको का सहारा लेने लगते हैं. परिणामस्वरूप इसका शरीर पर काफी बुरा असर पड़ता है. यह डिसआर्डर किसी भी उम्र में हो सकता है, लेकिन आमतौर पर यह किशोरावस्था या छोटी उम्र में होता है. ईटिंग(Effects of eating disorder) डिसॉर्डर कई तरह के तरह के होते हैं लेकिन एनेरोक्सिया नर्वोसा, बुलिमिया नर्विसा और बिंज ईटिंग डिसॉर्डर इसके तीन मुख्य प्रकार हैं. इस वीडियो में Dr. हर्षा जोशी, प्रग्राम डायरेक्टर, इंस्टीट्यूट ऑफ न्यूट्रीशन (Anorexia and Bulimia)एंड फिटनेस साइंसेस ( INFS) ने ईटिंग डिसऑर्डर, एनोरेक्सिया और बुलिमिया के बीच में अंतर और ईटिंग डिसऑर्डर को कैसे कंट्रोल करें, इसके तरीके के बारे में डिटेल में बातें की हैं. वीडियो देखें.Also Read - च्यूइंग गम चबाने के फायदे: मुंह की दुर्गंध के साथ कई बीमारियों से बचाती है Chewing Gum

Also Read - ये गलतियां आपकी हड्डियों को बना सकती है कमजोर, खान-पान और लाइफस्टाइल में आज से ही करें बदलाव

Also Read - पनीर ही नहीं बल्कि पनीर का फूल भी है सेहत के लिए फायदेमंद, जानें इस फूल के बारे में सबकुछ