अगर आप डिप्रेशन, फोबिया, ओसीडी और किसी अन्य मानसिक बीमारी से ग्रसित हैं और आपका इलाज चल रहा है तो यह समझना जरूरी है कि आपको अपने डॉक्टर की लगातार सलाह लेनी है. उन्होंने आपको जो भी सलाह दी हैं. दवाईयां समय से लेनी है. अगर काउंसलिंग है तो उसे समय से लेना है. जब आपका समय आ रहा है तो टेलीकाउंसल करें, जिससे की आप अपने इलाज में किसी तरह का गैप न आने दें और यह बहुत ही जरूरी है. इस समय तनाव बढ़ रहा है, परेशानी बढ़ रही हो तो परिवार में बात करें, दोस्तों से बात करें और अपने डॉक्टर के यहां जाएं. यह समझें की थोड़ा उतार चढ़ाव आना स्वाभाविक है. लेकिन अगर परेशान हो रहे हों और हैंडल न कर पा रहे हों तो डॉक्टर के पास जाएं यह बहुत ही जरूरी है.. तो आइए इस इंटरव्यू में जानते हैं फोर्टिस अस्पताल के मेंटल हेल्थ विभाग के विभागाध्यक्ष और निदेशक डॉ. समीर पारिख से…..Also Read - दिल्ली में बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के करीब 400 नए केस, दो लोगों की गई जान

Also Read - बैंक अकाउंट में आ गया पूरे शहर का Covid फंड, करोड़ों रुपये पाकर मालामाल हुआ शख्स घर से गायब

Also Read - अच्छी खबर! दिल्ली में थमी कोरोना की रफ्तार, बीते 24 घंटे में सामने आए 377 नए केस- एक मरीज की गई जान