Pregnancy During Covid: कोविड के दौरान गर्भावस्था: डब्ल्यूएचओ के अनुसार, गर्भवती महिलाएं या हाल ही में गर्भवती हुई महिलाएं जो अधिक उम्र की हैं, अधिक वजन वाली हैं, और उच्च रक्तचाप व मधुमेह जैसी पहले से मौजूद चिकित्सा संबंधी समस्याएं हैं, उनमें गंभीर COVID-19 विकसित होने का खतरा बढ़ जाता है. उनके शरीर और प्रतिरक्षा प्रणाली में बदलाव के कारण, गर्भवती महिलाएं कुछ सांस संबंधी संक्रमणों से बुरी तरह प्रभावित हो सकती हैं. इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि वे खुद को COVID-19 से बचाने के लिए सावधानी बरतें और अपने स्वास्थ्य सेवा प्रदाता को संभावित लक्षणों (बुखार, खांसी या सांस लेने में कठिनाई सहित) की रिपोर्ट करें. विवो हेल्थ इंडिया की सीओओ डॉ. अर्चना निरूला ने इस संबंध में आपके हर सवाल जा जवाब दिया है. डॉ. अर्चना निरूला के पास एमबीबीएस एमपीएच पीजीडीएचए के अलावा एम्स से प्रजनन और बाल स्वास्थ्य में डिप्लोमा, स्त्री रोग संबंधी अल्ट्रासाउंड में डिप्लोमा और पीएसआई (यूएसए) भारत की समन्वयक हैं.Also Read - युवा शिविर में बोले पीएम मोदी, भारत आज दुनिया की नई उम्मीद बनकर उभरा है

कोरोना के दौरान गर्भावस्था: स्त्री रोग विशेषज्ञ से जानिए सभी सवालों के जवाब

  1. यदि कोई गर्भावस्था की योजना बना रहा है, तो क्या कोविड महामारी के दौरान गर्भावस्था को स्थगित करना उचित है या नहीं?
  2. मान लीजिए कि एक महिला गर्भवती है, तो क्या उसके लिए नियमित जांच के लिए डॉक्टर के पास जाना सुरक्षित है? एक स्त्री रोग विशेषज्ञ के रूप में लोगों को आपकी क्या सलाह है?
  3. क्या गर्भावस्था के दौरान कोविड का टीका लेना सुरक्षित है?
  4. यदि गर्भवती मां कोविड पॉजिटिव हो जाती है तो आप उपचार के लिए क्या सलाह देंगी, क्या उनको अपनी डाइट में बदलाव करना चाहिए?
  5. अगर परिवार में कोई कोविड पॉजिटिव हो जाता है तो गर्भवती महिला को खुद को संक्रमण से बचाने के लिए क्या सावधानियां बरतनी चाहिए?
  6. कोविड महामारी के दौरान गर्भवती महिला को स्वस्थ और सुरक्षित रखने के लिए पति और परिवार के सदस्यों की क्या जिम्मेदारियां हैं?
Also Read - बैंक अकाउंट में आ गया पूरे शहर का Covid फंड, करोड़ों रुपये पाकर मालामाल हुआ शख्स घर से गायब

Also Read - राजस्थान में बढ़ रहे Corona के मामले, एक्सपर्ट बोले - तीसरी से ज्यादा घातक होगी चौथी लहर