31 मई को दुनिया भर में हर साल विश्व तंबाकू निषेध दिवस मनाया जाता है. इस दिन का उद्देश्य तंबाकू सेवन के व्यापक प्रसार और नकारात्मक स्वास्थ्य प्रभावों की ओर ध्यान आकर्षित करना है, जो वर्तमान में दुनिया भर में हर साल 70 लाख से अधिक मौतों का कारण बनता है, विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के सदस्य राज्यों ने 1987 में विश्व तंबाकू निषेध दिवस बनाया. वर्ल्ड नो टोबैको डे का उद्देश्य लोगों को धूम्रपान से होने वाले नुकसान को लेकर जागरुक करना है. क्योंकि धूम्रपान से कैंसर का खतरा होता है, ऐसे में डॉक्टर मनोज गोयल से जानते हैं स्मोकिंग करने से होने वाले खतरों के बारे में-Also Read - World No Tobacco Day 2021: आज विश्व तम्बाकू निषेध दिवस, ऐसे 10 दिन में छोड़ें स्मोकिंग की लत