Amazing: किसी के घर में एक साथ पांच बच्चों का जन्म हो तो जश्न होना तो तय है पर अगर कोई डॉगी बच्चे को जन्म दे और एक-दो नहीं बल्कि 12 गांव मिलकर उत्सव की तरह इसे मनाएं, तो क्या कहेंगे.Also Read - Optical Illusion: इस तस्वीर में छुपकर बैठी हैं 7 बिल्लियां मगर ढूंढना सबके बस की बात नहीं, दिग्गज भी खुजा रहे हैं सिर

ऐसा अनोखा मामला सामने आया है सतना, मध्य प्रदेश से. यहां एक डॉगी ने बच्चों को जन्म दिया तो कई गांवों ने मिलकर जश्न मनाया. Also Read - शशि थरूर ने Indian Railway को घेरते हुए लिख दिया ऐसा शब्द, डिक्शनरी खोलकर बैठ गया सोशल मीडिया

डॉगी का नाम है जूली. खोही गांव में जूली ने 5 बच्चों को जन्म दिया तो पूरा गांव खुशी से झूम उठा. इसके बाद जो हुआ वो शायद ही पहले कभी हुआ हो. Also Read - Assam Flood: असम में आई बाढ़ में 9 की मौत, 27 जिलों में 6 लाख से अधिक लोग हुए प्रभावित

गांव वालों ने बकायदा ‘बरहौ संस्कार व प्रतिभोज एवं नृत्य, संगीत कार्यक्रम’ आयोजित किया. साथ ही आमंत्रण कार्ड भी छपवाया. इसमें लिखा गया,
‘श्री कामतानाथ महाराज जी की असीम अनुकंपा से हमारी प्यारी जूली को पांच पुत्ररत्नों की प्राप्ति आप सभी दावत के लिए आमंत्रित हैं.’

खबर के मुताबिक, ये सामूहिक भोज 26 जनवरी के दिन दिया गया. इस दौरान आसपास के गांव के लोग बैंड-बाजा और घोड़ों को लाए थे. इस मौके पर कई सांस्कृतिक कार्यक्रम, स्वल्पाहार और भोजन की व्यवस्था की गई थी.

गांव वाले झूमकर नाच रहे थे और नवजात पिल्लों को शुभाशीष दे रहे थे. इस आयोजन में 12 गांव के 2000 लोगों ने सामूहिक भोज किया.

इस गांव से एक किवदंती जुड़ी है. गांव वाले बताते हैं कि यहां एक वक्त अन्न का अकाल हो गया था. जिसके बाद गांव के कुत्तों ने भगवान गैबीनाथ से प्रार्थना की. तब अन्न का अकाल दूर हुआ, लोगों की हर समस्या खत्म हुई.